राउरकेला स्टील प्लांट ने रचा कीर्तिमान, हॉट स्ट्रिप मिल-2 में 1 लाख टन स्लैब की रोलिंग

सूचनाजी न्यूज, राउरकेला। राउरकेल इस्पात संयंत्र के हॉट स्ट्रिप मिल-2 ने पहली बार मई के महीने में 1 लाख टन स्लैब का रोलिंग किया है। पिछला सर्वश्रेष्‍ठ 71485 टन का उत्‍पादन मार्च 2022 में दर्ज किया गया था।

ये खबर भी पढ़ें: बीएसपी के प्रयासों से बदली भावेश की जिंदगी, एजुकेशन मेरिट में बनाया स्थान

उल्लेखनीय है कि महामारी के बाद अक्टूबर 2021 में 16 टन सिंगल क्‍वायल के उत्‍पादन के साथ मिल की शुरुआत हुई थी। इसके बाद नवंबर 2021 में 1151 टन, दिसंबर 2021 में 9868 टन, जनवरी 2022 में 31213 टन, फरवरी 2022 में 48597 टन, मार्च 2022 में 71485 टन और अप्रैल 2022 में 47315 टन के साथ बढ़ोतरी की प्रक्रिया शुरू हुई।

ये खबर भी पढ़ें: SAILNews: रिटायरमेंट के समय एक साथ 43 हजार की रिकवरी शुरू, अगले महीने से किस्तों में वसूली, इनकम टैक्स की राशि होगी वापस

गौरतलब है कि 31 मई 2022 को यूनिट से संचयी एचआर क्‍वायल का उत्पादन 3 लाख टन (सटीक तौर पर 300568 टन) को पार कर गया है, जबकि 31 मई 2022 तक कुल 2,59,076 टन एच.आर. क्‍वायल का प्रेषण हुआ।

दूसरी ओर राउरकेला इस्पात संयंत्र (आरएसपी) के ब्लास्ट फर्नेस -5 ने पिछले दिनों एक और कीर्तिमान स्थापित किया है। 21 मिलियन टन हॉट मेटल उत्पादन के लक्ष्य को हासिल कर लिया है। कार्मिकों ने इसका जश्न उत्कृष्टता के नए शिखर को तेजी से छूने के दृढ़ संकल्प और उत्साह के साथ मनाया। निदेशक प्रभारी ने केक काटा। मील के पत्थर को पार करने के लिए बीएफ-5 और अन्य संबद्धित विभागों को बधाई देते हुए अतनु भौमिक ने कहा, “हमारे पास अच्छा प्रदर्शन जारी रखने और अधिक दक्षता के साथ महत्वपूर्ण मील के पत्थर तक पहुंचने की जबरदस्त क्षमता है। आइए आरएसपी को देश का सबसे अच्छा इस्पात संयंत्र बनने में मदद करने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ दें।”

बता दें कि देश के सबसे बड़े ऑपरेटिंग ब्लास्ट फर्नेस में से एक, बीएफ-5 ने 19 मई 2022 को 21 मिलियन टन का आंकड़ा पार कर लिया था। फर्नेस ने मार्च 2018 में 10 मिलियन टन हॉट मेटल उत्पादन को पार कर लिया था। फरवरी 2020 में 15 मिलियन टन हॉट मेटल उत्पादन और जनवरी 2022 में 20 मिलियन टन को पार किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!