SAIL बना भारत सरकार की डिजिटल पहल का ध्वजवाहक, GeM से की 10 हजार करोड़ की खरीदारी

0
sail GEM1
GeM के साथ साझेदारी करने में सेल सबसे आगे रहा है और उसने GeM पोर्टल की पहुंच बढ़ाने के लिए विभिन्न कदम उठाए।
AD DESCRIPTION

देश की पहली केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र का उद्यम (सीपीएसई) बना है, जिसने गवर्नमेंट-ई-मार्केटप्लेस यानी GeM से 10,000 (दस हजार) करोड़ रुपये के खरीदारी की है।

सूचनाजी न्यूज, नई दिल्ली। स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (सेल) ने एक और इतिहास रच दिया है। देश की नींव को मजबूत करने वाले इस्पात उत्पादक कंपनी ने भारत सरकार के डिजिटल पहल का ध्वजवाहक बनकर अपनी उपलब्धियों में एक और रत्न जड़ दिया है। देश की पहली केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र का उद्यम (सीपीएसई) बना है, जिसने गवर्नमेंट-ई-मार्केटप्लेस यानी GeM से 10,000 (दस हजार) करोड़ रुपये के खरीदारी की है।

ये खबर भी पढ़े …Bhilai Steel Plant, खदान, अस्पताल और मंदिर की चौखट पर डायरेक्टर टेक्नीकल संग हाजिरी लगाएंगी Soma Mandal, सुनेंगी मन की बात

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

इस मील के पत्थर को हासिल करने वाला पहला केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र का उद्यम (सीपीएसई) बन गया। जीईएम की स्थापना के बाद से अब तक लगातार सेल GeM के प्लेटफॉर्म को अपनाए हुए है। लगातार इसी से खरीदारी करता रहा। यही वजह है कि देश की अन्य कंपनियों को पछाड़ दिया है।

ये खबर भी पढ़े …सेल कर्मी पहले सस्पेंड, फिर इंक्रीमेंट डाउन, बहाल हुआ तो रुका बोनस

Amazon(nothing phone 1)

ये खबर भी पढ़े …झारखंड में 980 यूनियनों का रजिस्ट्रेशन कैंसिल, 65 पेज की लिस्ट ने बढ़ाया बीपी, जानिए सच्चाई…

GeM के साथ साझेदारी करने में सेल सबसे आगे रहा है और उसने GeM पोर्टल की पहुंच बढ़ाने के लिए विभिन्न कदम उठाए। सक्रिय भूमिका निभाई है। बता दें कि वित्तीय वर्ष 2018-19 में GeM के माध्यम से 2.7 करोड़ रुपए से खरीदी शुरू की गई थी। इस साल 10,000 करोड़ की खरीदारी करके सबसे आगे निकल गया है।

ये खबर भी पढ़े …भाई दूज पर विधायक भाई को बहनों ने बांधी राखी, खिलाया खीर, जानिए क्या मिला रिटर्न गिफ्ट

संयोग से, सेल पिछले वित्तीय वर्ष में GeM पर सबसे बड़ा CPSE खरीददार था, जिसका मूल्य 4,614 करोड़ था। चालू वित्त वर्ष में, सेल पहले ही पिछले वर्ष की उपलब्धि को पार कर चुका है, जिसमें अधिक की खरीदारी की गई है।

ये खबर भी पढ़े …वेस्टर्न कोल फील्ड्स लिमिटेड को मिली एक साथ 2 सौगात, छत्तरपुर-1 भूमिगत खदान में कंटीन्यूअस माइनर और मुख्यालय में इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर शुरू

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here