SAIL-भिलाई की ललकार, बोनस दो 45 हजार, वरना इस्पात भवन पर होगा अब आर-पार, देखिए फोटो…

0
sail bonus protest in bhilai 3
संयुक्त यूनियन की ओर से बुधवार सुबह बोरिया गेट में प्रदर्शन किया गया। शांतिपूर्वक प्रदर्शन से प्रबंधन ने राहत की सांस ली।
AD DESCRIPTION

बोनस को लेकर भिलाई की संयुक्त ट्रेड यूनियन ने बोरिया गेट पर प्रदर्शन किया। युवा कर्मचारी भी पहुंचे। इधर-प्रबंधन ने बदलवाया रास्ता।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। बोनस को लेकर बुधवार सुबह बीएसपी के बोरिया गेट पर प्रदर्शन किया गया। बीएमएस और बीएसपी वर्कर्स यूनियन को छोड़ 8 ट्रेड यूनियनों ने प्रदर्शन किया। युवा कर्मचारियों का साथ मिला। शांतिपूर्वक प्रदर्शन के बाद एकजुटता प्रदर्शित करते हुए ग्रुप फोटोग्राफी कराई गई। आइआर विभाग के अधिकारियों के सामने ऐलान किया गया कि 45 हजार रुपए बोनस जल्द से जल्द दिया जाए। अभी बोरिया गेट पर शांतिपूर्वक प्रदर्शन किया गया है। अगर, दुर्गा पूजा से पहले बोनस की राशि नहीं दी गई तो इस्पात भवन पर अगला प्रदर्शन होगा। आप सब लोग तैयार हो जाएं…।

ये खबर भी पढ़ें…. SAIL Bonus: बोकारो स्टील प्लांट के प्रदर्शनकारी डटे रहे मेन गेट पर, प्रबंधन पिछले रास्ते से कर्मियों को ले गया ड्यूटी, देखें तस्वीरें

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

प्रदर्शन में सीटू, इंटक, एटक, एक्टू, लोइमू, एचएमएस, मंच, स्टील वर्कर्स यूनियन के पदाधिकारी शामिल हुए। हाथों में झंडा लिए नारेबाजी की गई। कुछ देर तक रास्ते को जाम करने की कोशिश की गई। वाहनों को चंद मिनट रोक कर उन्हें आगे जाने दिया जा रहा था।

दूसरी ओर प्रबंधन ने कर्मचारियों का पहले से ही रास्ता ही बदलवा दिया था, ताकि जाम में फंसने की नौबत न आने पाए। बोरिया गेट से जाने वाले कर्मचारियों को सेंट्रल एवेंन्यू होते मेन गेट से प्लांट में दाखिल कराया गया।

ये खबर भी पढ़ें….:डाक विभाग के स्पेशल कवर पर सेल-राउरकेला स्टील प्लांट की विकास गाथा

ये खबर भी पढ़ें:SAIL बोनस बवाल: दुर्गापुर स्टील प्लांट के हजारों कर्मचारी उतरे सड़क पर, गेट जाम, DIC व ED को पूजा पंडालों में दिखाएंगे काला कपड़ा, देखें फोटो

आठ यूनियन के पदाधिकारियों के साथ युवा कर्मचारी भी सड़क के किनारे हाथों में किसी न किसी यूनियन का झंडा पकड़े बोनस के समर्थन में नारेबाजी कर रहे थे। बीएसपी प्रबंधन की तरफ से वीडियोग्राफी-फोटोग्राफी कराई गई। इस पर आपत्ति जताई गई और बीएसपी जनसंपर्क विभाग के फोटोग्राफर को रोकने की कोशिश की गई। वरिष्ठ कार्मिकों ने किसी तरह मामले को संभाला। बीएसपी आइआर विभाग के अधिकारियों ने समझाकर फोटोग्राफी को जारी रखवाया।

ये खबर भी पढ़ें:ड्यूटी जाते समय सड़क हादसा में सेल-बीएसपी कर्मी जख्मी, पुलिस पेट्रोल पंप के सामने 10 दिन में दूसरी घटना

जानिए श्रमिक नेताओं ने क्या कहा…

सीटू अध्यक्ष सविता मालवीय का कहना है कि सम्मानजनक बोनस एवं दुर्गा पूजा से पहले बोनस देने की मांग पर संयुक्त यूनियन का प्रर्दशन किया गया है।

ये खबर भी पढ़ें:SAIL बोनस बवाल: दुर्गापुर स्टील प्लांट के हजारों कर्मचारी उतरे सड़क पर, गेट जाम, DIC व ED को पूजा पंडालों में दिखाएंगे काला कपड़ा, देखें फोटो

स्टील इम्पलाइज यूनियन इंटक के अतिरिक्त महासचिव संजय साहू का कहना है कि 12015 करोड़ रुपए कमाने वाली कंपनी बोनस को लेकर मजाक कर रही है। कर्मचारियों की खुशियों को बर्बाद किया जा रहा है। कर्मचारियों को 45 हजार रुपए बोनस दुर्गा पूजा से पहले दिया जाए। बोरिया गेट पर प्रदर्शन सफल रहा है। एटक के महासचिव विनोद कुमार सोनी ने कहा कि अगला प्रदर्शन इस्पात भवन पर होगा।

ये खबर भी पढ़ें:BMS ने नवरात्रि के पहले दिन लिया मान्यता का प्रमाण-पत्र, प्रबंधन से कहा-निष्ठापूर्वक समर्पित होकर अनुशासन के दायरे में करेंगे काम, युवा कर्मी नदारद, चढ़ी भौं

एचएमएसस के महासचिव प्रमोद कुमार मिश्र ने कहा कि सीटू अध्यक्ष सविता मालवीय ने बेहतर को-ऑर्डिनेटर के रूप में सामने आई हैं। प्रदर्शन सफल रहा। कर्मचारियों की जायज मांग पर प्रबंधन को अब बड़ा दिल दिखाना चाहिए। लोइमू के कार्यकारी अध्यक्ष राजेंद्र सिंह परगनिहा ने कहा कि कर्मियों की आवाज को दबाने की कोशिश प्रबंधन न करे। बोनस का हक अदा करे।

ये खबर भी पढ़ें:सेल बोनस पर तिलमिलाए तपन सेन बोले-वर्करों को कम से कम देना मैनेजमेंट का यूनिवर्सल कैरेक्टर, जानिए डायरेक्टर पर्सनल ने क्यों किया था फोन…

प्रदर्शन से पीछे हटने वाली बीएमएस का ये है तर्क

भिलाई इस्पात मजदूर संघ के महामंत्री रवि शंकर सिंह ने बीएमएस के राष्ट्रीय पदाधिकारी से चर्चा के बाद जानकारी दी कि 24 सितंबर को बोनस पर चर्चा चल रही थी। इंटक से वीरेंद्र चौबे और एचएमएस के राजेन्द्र सिंह 25000 अग्रिम भुगतान की बात कही। फिर अगली बैठक में अन्तिम निर्णय लिया जाएगा। प्रबंधन ने ऑफर दिया तो भारतीय मजदूर संघ और सीटू ने इसका विरोध किया। बोकारो में आकर कहा कि प्रबंधन एडवांस खाते में डालने वाला है, जबकि इसमें कोई सच्चाई नहीं है। अफवाह फैला हुआ है कि डायरेक्टर पर्सनल से वार्ता हुई है। प्रबंधन का ऐसा कोई सोच नहीं है।

एनजेसीएस बड़े फोरम में सहमति बनने पर ही प्रबंधन भी कोई कदम उठाती है।‌ आज बोकारो और दुर्गापुर में गेट जाम आन्दोलन करने की मंशा थी। संयुक्त आन्दोलन का नाम दिया है। इसमें भारतीय मजदूर संघ शामिल नहीं है। रविशंकर सिंह ने कहा कि जब 10 अक्टूबर को वार्ता की तिथि तय है, तो वहीं लड़ कर लो कितना लेना है। वहां चतुराई करेंगे और उद्योग में आन्दोलन। इन‌ लोगों की नियत सही नहीं दिखाई देती है।

ये खबर भी पढ़ें:Rourkela Steel Plant के पाइप प्लांट ने 39 साल पुराना तोड़ा प्रोडक्शन रिकॉर्ड, डायरेक्टर इंचार्ज खुद पहुंचे कर्मियों के बीच

जानिए रास्ता बदलने के वायरल मैसेज में बीएसपी ने क्या लिखा था…

आवश्यक व्यवस्था हेतु पुलिस विभाग को सूचित किया गया। प्रदर्शन स्थल पर फ़ोटो एवं वीडियोग्राफी कराई गई। सामान्य पाली के कार्मिकों को फारेस्ट एवेन्यू से आवागमन में बाधा हो सकती है। अतः सभी को सूचित किया जाता है कि सामान्य पाली के लिए संयंत्र जाने के लिए सेंट्रल एवेन्यू का प्रयोग करें।

ये खबर भी पढ़ें:SAIL बोनस बवाल: दुर्गापुर स्टील प्लांट के हजारों कर्मचारी उतरे सड़क पर, गेट जाम, DIC व ED को पूजा पंडालों में दिखाएंगे काला कपड़ा, देखें फोटो

दुर्गापुर की चिंगारी पहुंची है भिलाई

दुर्गापुर स्टील प्लांट में संयुक्त रूप से उठी बोनस की आवाज भिलाई पहुंची। मंगलवार को ही यूनियन नेताओं की आपस में एवं दुर्गापुर के साथियों के साथ बातचीत होती रही। साथ में कर्मचारी भी इस विषय को लेकर आक्रोशित दिखे। अंततः संयुक्त यूनियन के नेताओं ने तय किया कि बुधवार सुबह बोरिया गेट में संयुक्त प्रदर्शन किया जाएगा, जिसकी तैयारी की गई।

ये खबर भी पढ़ें:सेल बोनस पर तिलमिलाए तपन सेन बोले-वर्करों को कम से कम देना मैनेजमेंट का यूनिवर्सल कैरेक्टर, जानिए डायरेक्टर पर्सनल ने क्यों किया था फोन…

हर यूनियन ने कर्मियों से किया आह्वान

यूनियनों ने आह्वान किया था कि हर हाल में नाइट, जनरल एवं सेकंड शिफ्ट वाले कर्मी बोरिया गेट में पहुंचे। सेल प्रबंधन कर्मियों के साथ जिस तरह से छल कर रहा है, उसके विरोध में सम्मानजनक बोनस को लेकर हो रहे प्रदर्शन में अधिक से अधिक संख्या में उपस्थित होकर अपनी जायज मांग के लिए हो रहे संघर्ष में भागीदारी निभाएं।

ये खबर भी पढ़ें: सिविक सेंटर चौपाटी से खदेड़े गए कब्जेदार, इधर-खुर्सीपार में 60 और अतिक्रमणकारियों को नोटिस, संख्या पहुंची 160

श्रमिक नेताओं का कहना है कि ऐसा बहुत कम बार हुआ है, जब दुर्गा पूजा के पहले कर्मियों के खाते में बोनस की राशि नहीं पहुंची हो और दूसरी बात लगातार दो मीटिंगों के बाद भी सेल प्रबंधन कर्मचारियों को बहुत हल्के से ले रहा था। 12 हजार करोड़ से ज्यादा प्रॉफिट होने के बाद भी एक सम्मानजनक बोनस देने के लिए आनाकानी करते हुए मामले को टालते रहा।

ये खबर भी पढ़ें:Rourkela Steel Plant के पाइप प्लांट ने 39 साल पुराना तोड़ा प्रोडक्शन रिकॉर्ड, डायरेक्टर इंचार्ज खुद पहुंचे कर्मियों के बीच

अतः बंगाल का मुख्य त्योहार दुर्गा पूजा तक जब कर्मियों के खाते में बोनस की राशि ना पहुंचने से आक्रोश भड़क गया। बोनस निर्धारण के लिए अगली तिथि 10 अक्टूबर दिया गया है तो ऐसी जानकारी होते ही कर्मियों में आक्रोश पनपने लगा और वे सड़कों पर उतरे, जिसका व्यापक समर्थन मिला।

और यह धीरे-धीरे सेल की विभिन्न इकाइयों में भी फैलने लगी और आगे देखना यह होगा कि कर्मियों के इस आक्रोश के बाद प्रबंधन क्या निर्णय लेता है।

ये खबर भी पढ़ें:BMS ने नवरात्रि के पहले दिन लिया मान्यता का प्रमाण-पत्र, प्रबंधन से कहा-निष्ठापूर्वक समर्पित होकर अनुशासन के दायरे में करेंगे काम, युवा कर्मी नदारद, चढ़ी भौं

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here