सेल नहीं दे रहा बकाया एरियर और पदनाम, कर्मचारी सड़क पर कर रहे मांग, प्रबंधन को कोसने में नहीं छोड़ा कोई कोर-कसर

यूनियन के महासचिव एसके बघेल के नेतत्व में अतिरिक्त महासचिव संजय साहू हाथों में माइक लिए नारेबाजी करते और कराते रहे। ग्रेच्यूटी सीलिंग समाप्त कर पुरानी ग्रेच्यूटी प्रणाली लागू करने, सेल कर्मचारियों के लिए एस-12 ग्रेड लागू करने और नाइट शिफ्ट एलाउंस बढ़ाकर प्रति कार्य दिवस 500 रुपए करने की मांग की गई।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। स्टील अथारिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड-सेल के कर्मचारियों की मांगों की फेहरिस्त काफी लंबी है। प्रबंधन से गुहार लगाने के बाद अब तक कई मामले बक्से में बंद है। बकाया 39 महीने के एरियर, जूनियर इंजीनियर पदनाम, रिवाइज इंसेंटिव, ग्रेच्युटी सिलिंग को लेकर कर्मचारियों में खासा नाराजगी है। भिलाई स्टील प्लांट के कर्मचारियों ने शुक्रवार सुबह बोरिया गेट पर प्रदर्शन किया। सड़क के दोनों तरफ हाथों में झंडे और तख्तियां लिए नारेबाजी करते रहे।

ये खबर भी पढ़ें:तीन साल से शिकायत का कोई असर नहीं, गैरेज के छत का प्लास्टर टूटकर गिरा, बची डिप्लोमा इंजीनियर की जान, कहा कराऊंगा एफआइआर

स्टील इम्प्लाइज यूनिन-इंटक के बैनर तले प्रदर्शन किया गया। 2017 से लंबित वेतन समझौता को जल्द से ज्लद पूर्ण करने और 39 महीने एरियर को लेकर काफी आवाज बुलंद की गई। यूनियन के महासचिव एसके बघेल के नेतत्व में अतिरिक्त महासचिव संजय साहू हाथों में माइक लिए नारेबाजी करते और कराते रहे। ग्रेच्यूटी सीलिंग समाप्त कर पुरानी ग्रेच्यूटी प्रणाली लागू करने, सेल कर्मचारियों के लिए एस-12 ग्रेड लागू करने और नाइट शिफ्ट एलाउंस बढ़ाकर प्रति कार्य दिवस 500 रुपए करने की मांग की गई।

ये खबर भी पढ़ें:भिलाई स्टील प्लांट के पांच सीजीएम को मिला ईडी का प्रमाण-पत्र, जानिए कॅरियर के बारे में

प्रदर्शन के दौरान पिजूषकर, वंश बहादुर सिंह, पूरण वर्मा, सीपी वर्मा, चंद्रशेखर सिंह, एसके खचरिया, रमेश तिवारी, एसबी सिंह, मदन लाल सिन्हा, विपिन मिश्रा, अनिमेष पसीने, पीवी राव, आरसी अग्रवाल, एनएस बंछोर, सच्चिदानंद पांडेय, दीनानाथ सिंह सार्वा, जीआर सुमन, जयंत बराठे, आर. दिनेश, प्रदीप पाठक, घनश्याम मनोहर, रमेश पाल, रेशम राठौर, डीपी खरे, आरके देवांगन, आरके त्रिपाठी, खुर्सीद कुरैशी, अज्जू मार्टिन, प्रदीप विश्वास, जंगबहादुर, जसबीर आदि मौजूद रहे।

ये खबर भी पढ़ें:Rourkela Steel Plant: डायरेक्टर इंचार्ज अतनु भौमिक ने 4 सीजीएम को पहले सौंपा ईडी का सर्टिफिकेट, फिर भविष्य के रोडमैप पर किया मंथन

आप भी जानिए कर्मचारियों की मांगों के बारे में

-सम्मानजनक पदनाम दिया जाए।
-मंथली इसेंटिव स्कीम को रिवाइज्ड कर कम से कम 10500 रुपए प्रतिमाह किया जाए।
-डीआर स्कीम को पुनः चालू किया जाए।
-ठेका कर्मचारियों के लिए 15 लाख का सामूहिक बीमा कराया जाए।
-माडल कैंटीन की और अधिक व्यवस्था की जाए।
-मार्च 2003 से ज्वाइन करने वाले सभी कर्मचारियों का ट्रेनिंग पीरियड प्रमोशन के लिए जोड़ा जाए।
-सेक्टर-8 हायर सेकन्ड्री स्कूल एवं सेक्टर-6 गेस्ट हाउस को कर्मचारियों के लिए मंगल भवन के रूप में विकसित किया जाए।
-सर्व सुविधायुक्त मल्टीस्टोरी नया आवास कर्मचारियों के लिए बनाया जाए।
-बीएसपी से सेवानिवृत्त होने वाले कर्मचारियों के लिए 650 स्क्वायर फीट तक का आवास लाइसेंस में दिया जाए।
-छोटे-छोटे दो आवासों को मिलाकर बड़ा आवास बनाया जाए।
-एक्टिंग पे को बढ़ाया जाए। सभी कर्मचारियों को मोबाइल सिम दिया जाए।

-HRA के पेंडिंग समस्या को सुलझाया जाए।
-मकान मरम्मत भत्ता बढ़ाया जाए।
-टाउनशिप में राज्य सरकार की बिजली बिल हाफ योजना का लाभ दिया जाए।
-सेल पेंशन स्कीम में फंड बढ़ाने के लिए प्रतिदिन लोहे के भाव में 10 रुपए श्रमिक कल्याण फंड के नाम से लिया जाए।
-आउटसोर्स में 50% बीएसपी कर्मचारी के बच्चे एवं स्थानीय लोगों को लिया जाए।
-मकान मरम्मत भत्ता बढ़ाया जाए।
-टाउनशिप के दुकान आवंटन में बीएसपी कर्मचारियों के बच्चों के लिए 50% आरक्षित हो।
-प्रशिक्षण अवधि में स्टाइफन भर्ती ग्रेड का बेसिक दिया जाए।
-200 वर्गफीट के आवास के लाइसेंस फीस को 2 लाख 50 हजार किया जाए।

ये खबर भी पढ़ें:राउरकेला स्टील प्लांट के मंच पर बीएसपी के कलाकारों ने जगजीत सिंह, सलमा आगा, किशोर और लता मंगेशकर की आवाज को किया जिंदा, अलॉय ने सात चक्र और दुर्गापुर ने दिखाई बंगाली संस्कृति

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!