सेल प्रबंधन अदा करे 39 माह का बकाया, बायोमेट्रिक, ग्रेच्युटी सिलिंग करे बंद और एनजेसीएस को भंग

एलटीसी सहित अन्य राशि वेतन से कटौती न की जाए। सम्मानजनक पदनाम की भी मांग की गई। प्रदर्शन के दौरान बायोमेट्रिक और ग्रेच्युटी सिलिंग को बंद करने की मांग की गई।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। चुनावी माहौल में कर्मचारियों के बीच पैठ बनाने के लिए बीएसपी वर्कर्स यूनियन ने एक बार फिर विरोध-प्रदर्शन किया। 39 माह के बकाया एरियर की मांग और बायोमेट्रिक के विरोध आदि विषयों को लेकर खुर्सीपार गेट पर विरोध प्रदर्शन किया गया। प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी की गई।

ये खबर भी पढ़ें: बीएसपी की मेन पाइपलाइन को काटकर पानी ले जा रहे थे 80 कब्जेदार, दो टंकिया फुल न होने से झेल रहा था कर्मचारियों का परिवार

बीएसपी वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष दत्ता ने दावा किया है कि बीएसपी कर्मचारियों ने भी यूनियन के प्रदर्शन का समर्थन किया। प्रतिनिधि यूनियन के साथ किए गए गलत एग्रीमेंट नॉन एक्जीक्यूटिव प्रमोशन पॉलिसी (NEPP) को तुरंत निरस्त करने की मांग की गई। एलटीसी सहित अन्य राशि वेतन से कटौती न की जाए। इसके अलावा सम्मानजनक पदनाम की भी मांग की गई। प्रदर्शन के दौरान बायोमेट्रिक और ग्रेच्युटी सिलिंग को बंद करने की मांग की गई।

ये खबर भी पढ़ें: सेल प्रबंधन की ढिलाई, कर्मचारियों की जेब पर आफत आई, पांच हजार तक की चोट लगाई

अध्यक्ष उज्जवल दत्ता ने कहा कि यूनियन मांगों को लेकर लगातार भिलाई इस्पात संयंत्र के चारों गेट में इसी प्रकार क्रम वार प्रदर्शन करेगी। एनजेसीएस यूनियन द्वारा बीएसपी कर्मचारियों के साथ धोखा किया गया है। अब समय आ चुका है कि सेल में एनजेसीएस संगठन को तत्काल भंग किया जाए। कर्मचारियों के हक में यह फैसला उचित होगा। अन्यथा कर्मचारियों को बार-बार इस तरह नुकसान उठाना पड़ेगा।

ये खबर भी पढ़ें: भिलाई स्टील प्लांट के ईडी माइंस सहित 140 और बोकारो से 52 कार्मिक विदा, बढ़ा कामकाज का दबाव, घटेगा मैनपॉवर कास्ट

प्रदर्शन में महासचिव खूबचंद वर्मा, अतिरिक्त महासचिव दिल्लेश्वर राव,कार्यकारी महासचिव शिवबहादुर सिंह, उपाध्यक्ष अमित बर्मन, उप महासचिव सुरेश सिंह, वरिष्ठ उपाध्यक्ष नोहर सिंह गजेंद्र, विमल पांडे, सुभाष महाराणा, सहायक महासचिव प्रदीप सिंह, सचिव मनोज डडडेना, कन्हैया लाल अहिर्रे, संदीप सिंह, विमल पांडे, सुभाष महाराणा, मंगेश गिरी, राजेश यादव, धनंजय गिरी, उमेश गोस्वामी, रवि शंकर सिंह आदि मौजूद रहे।

ये खबर भी पढ़ें: भारतीय रेल इंजनों पर बांग्लादेश फिदा, अधिकारियों संग रेलमंत्री पहुंचे बनारस रेल इंजन कारखाना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!