बहुत तनाव में हैं सेल के अधिकारी, एक-दूसरे का हाथ पकड़ने की आई बारी

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड-सेल (SAIL) के अधिकारी मौजूदा हालात में काफी तनाव से जूझ रहे हैं। प्रबंधकीय कामकाज संभालने वालों का बीपी बढ़ता जा रहा है। आपसी समन्वय बनाकर कामकाज करने और अपना धैर्य न खोने के लिए तनाव प्रबंधन पर कार्यशाला हुई। बोकारो स्टील प्लांट ( Bokaro steel plant) के अधिकारियों को तनाव भगाने का तरीका बताया गया। आध्यात्मिक रास्ते के जरिए शांत मन के लिए एक-दूसरे का हाथ पकड़वाया गया। आंखें बंद कर सांस लेने से होने वाले लाभ का एहसास कराया गया।

ये खबर भी पढ़ें:मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेल कॉरिडोर के लिए भिलाई स्टील प्लांट भेज रहा भूकंपरोधी सरिया

बीएसएल (BSL) के मानव संसाधन विकास केन्द्र में “पेंट एवरी डे विथ जॉय” विषयक तनाव प्रबंधन पर एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के दौरान श्रीमद राजचंद्र मिशन, धर्मपुर, जिला वाल्साद की संस्था के पूज्य गुरुदेव राकेशजी के मार्गदर्शन में स्वध्य्कार आत्मार्पित शिवानीजी ने प्रतिभागियों को तनाव प्रबंधन के विभिन्न आयामों की जानकारी दी।
उदघाटन सत्र में मुख्य महाप्रबंधक प्रभारी (नगर प्रशासन) बीएस पोपली सहित विभिन्न विभागों के विभागाध्यक्ष सहित लगभग 150 कर्मी उपस्थित थे। इस अवसर पर पोपली ने कार्यशाला की महता पर प्रकाश डाला।

ये खबर भी पढ़ें:दुर्गापुर स्टील प्लांट ने जल संरक्षण पर किया ठोस काम, जल खपत होगी कम

समापन सत्र में अधिशासी निदेशक (संकार्य) बीके तिवारी, अधिशासी निदेशक (कार्मिक एवं प्रशासन) संजय कुमार, अधिशासी निदेशक (झारखंड ग्रुप्स ऑफ़ माइंस) जे दासगुप्ता सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे। प्रतिभागी अधिकारियों ने इस अवसर पर कहा कि तनाव को कम करके ही हम अपने जीवन में आगे बढ़ सकते हैं तथा दैनिक कार्यों में सफलता प्राप्त कर सकते हैं।

मुख्य महाप्रबंधक (मासवि) मनीष जलोटा के मार्गदर्शन में कार्यशाला का संचालन महाप्रबंधक (मासवि) नीता बा एवं प्रबंधक (मासवि) प्रीति कुमारी ने किया। कार्यशाला के आयोजन में हृषिकेश रंजन, कुमारी सीमा एवं एससी मुर्मू का अहम योगदान रहा। कार्यशाला के उपरान्त शिवानीजी एवं उनकी संस्था के सदस्यों ने मानव सेवा आश्रम, सेक्टर 5 के बच्चों के बीच बीएसएल के सीएसआर द्वारा प्रायोजित फ़ूड पैकेट का बितरण किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!