SAIL Strike 2021 Anniversary: एनजेसीएस बैठक में सभी मुद्दे करें हल, बीएसपी की संयुक्त यूनियनों ने चेयरमैन से लगाई गुहार, प्रबंधन न करे कोई गलती अबकी बार

30 जून 2021 की ऐतिहासिक सफल हड़ताल की प्रथम वर्षगांठ के अवसर पर संयुक्त ट्रेड यूनियन ने सेल चेयरमैन को भिलाई इस्पात संयंत्र प्रबंधक के माध्यम से एक ज्ञापन सौंपा गया है।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। कर्मचारियों के लंबित मुद्दों को लेकर 30 जून 2021 को सफल हड़ताल हुई थी। उत्पादन ठप हो गया था। सेल प्रबंधन तक सकते में आ गया था। इसी हड़ताल की पहली वर्षगांठ गुरुवार को मनाई जा रही है। इस मौके पर भिलाई इस्पात संयंत्र की पांच यूनियनों ने संयुक्त रूप से सेल चेयरमैन सोमा मंडल को चिट्‌ठी लिखी है। आइआर विभाग के महाप्रबंधक जेएन ठाकुर को यह चिट्‌ठी भेंट की गई ताकि डायरेक्टर इंचार्ज के माध्यम से सेल चेयरमैन तक पहुंच सके।

ये खबर भी पढ़ें: सेल के अधिकारियों को मिला बंपर प्रमोशन का तोहफा, पढ़ें तरक्की पाने वालों के नाम

संयुक्त यूनियन के बैनर तले गुरुवार सुबह मांग पत्र सौंपा गया है। इसमें इस्पात श्रमिक के राजेश अग्रवाल, शेख महमूद, एचएमएस के महासचिव प्रमोद कुमार मिश्र, एटक के महासचिव विनोद कुमार सोनी, एक्टू महासचिव श्याम लाल साहू, स्टील वर्कर्स यूनियन के नंद किशोर गुप्ता शामिल थे। मंच के कार्यकारी अध्यक्ष शेख महमूद ने बताया 30 जून 2021 की ऐतिहासिक सफल हड़ताल की प्रथम वर्षगांठ के अवसर पर संयुक्त ट्रेड यूनियन ने सेल चेयरमैन को भिलाई इस्पात संयंत्र प्रबंधक के माध्यम से एक ज्ञापन सौंपा गया है।

ये खबर भी पढ़ें: जिस स्कूल से पढ़े-बढ़े वहीं चीफ गेस्ट बनकर पहुंचे राउरकेला स्टील प्लांट के डायरेक्टर इंचार्ज अतनु भौमिक, खो गए बचपन की यादों में

जिसमें मांग की गई कि अगली एनजेसीएस मीटिंग में वेज रिवीजन को अतिशीघ्र पूरा करके लागू किया जाए। इसके अलावा ग्रेच्युटी सिलिंग एवं अन्य कई मुद्दों को जल्द सुलझा कर कर्मचारियों को राहत दें। पिछली एनजेसीएस बैठक 21-22 अक्टूबर 2021 को हुई थी और सेल और अनुबंध श्रमिकों के मुद्दों को निपटाने के लिए क्रमशः 2 उप-समितियां बनाई गई थीं। वेतन संरचना के लिए सेल कर्मचारियों के लिए उप-समिति की सिफारिश पहले ही प्रस्तुत की जा चुकी है, लेकिन आज तक इसका कार्यान्वयन लंबित है।

ये खबर भी पढ़ें: भिलाई स्टील प्लांट से जून में रिटायर होने वाले अधिकारियों को डायरेक्टर इंचार्ज ने दी विदाई

वहीं, ठेका मजदूरों के मामले को हल करने के लिए एनजेसीएस सब-कमेटी की चार बैठकें हो चुकी हैं, लेकिन एक भी समस्या का समाधान नहीं हुआ है। यह एक महत्वपूर्ण मुद्दा है और एनजेसीएस की बैठक में इस मुद्दे को प्राथमिकता के आधार पर निपटाने का निर्णय लिया गया था, लेकिन अभी तक कोई प्रगति नहीं हुई है।

ये खबर भी पढ़ें: BSP Union Election 2022: भिलाई स्टील प्लांट के 13400 कर्मचारी 30 जुलाई को चुनेंगे मान्यता प्राप्त यूनियन, रिटायर्ड कर्मी भी डालेंगे वोट, देर रात आएगा रिजल्ट, आचार संहिता लागू

चेयरमैन को लिखी गई चिट्‌ठी में ये भी…

-पीड़ित, निलंबन और स्थानांतरण के मामले से जूझ रहे कर्मचारियों को न्याय दिया जाए।
-39 महीने के बकाया एरियर का भुगतान किया जाए। अप्रैल 2020 से पर्क्स के लिए एरियर भुगतान किया जाना चाहिए।
-सभी भत्तों से संबंधित मुद्दे अभी भी लंबित हैं। विशेष खान भत्तों को बहाल किया जाना चाहिए।
-डिप्लोमा इंजीनियर्स के पदनाम का मामला अब तक नहीं सुलझाया गया है। आरआईएनएल कर्मचारियों को वेतन संशोधन का लाभ आज तक नहीं मिल सका।
-आरआईएनएल का निजीकरण न किया जाए। कर्मचारी 500 से अधिक दिनों से लगातार संघर्ष कर रहे हैं।
-सेल में आरआईएनएल का विलय समय की मांग है और इस उद्देश्य के लिए सरकार द्वारा आवश्यक कदम उठाए जाने चाहिए।
-प्रशिक्षण अवधि को सेवाकाल से जोड़ने का मामला भी लंबित है।
-ग्रेच्युटी सिलिंग का मुद्दा असंतोष का एक प्रमुख कारण है। एकपक्षीय परिपत्र को वापस लिया जाना चाहिए और पिछली प्रथा को जारी रखा जाना चाहिए।

ये खबर भी पढ़ें: SAIL NEWS: एनजेसीएस की बैठक 19 जुलाई को, बकाया एरियर और पे-स्केल पर लगेगी मुहर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!