नॉन फाइनेंसियल मोटिवेशन स्कीम जल्द चालू करें और प्लांट सुरक्षा पर बरतें सतर्कता

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। भिलाई स्टील प्लांट के कर्मचारियों के लिए नॉन फाइनेंसियल मोटिवेशन स्कीम को फिर से चालू करने की मांग की जा रही है। स्टील इम्प्लाइज यूनियन इंटक की कार्यकारिणी की बैठक में यह मुद्दा एक बार फिर उठा। र्यकारी अध्यक्ष पीयूषकर की अध्यक्षता में उप महासचिव चंद्रशेखर ने जनसंवाद कार्यक्रम में कर्मचारियों की समस्याओं को कार्यकारणी को अवगत कराया। कर्मचारियों के द्वारा इंटक यूनियन के द्वारा कर्मचारी हित में किए गए कार्य के कारण मिल रहे समर्थन से अवगत कराया।

उप महासचिव शेखर शर्मा ने मांग की है कि भिलाई इस्पात संयंत्र में अक्टूबर 2021 से मार्च 2022 तक चालू नान फाइनेंसियल मोटिवेशन स्कीम को अप्रैल से अभी तक चालू नहीं किया गया है, जिसको लेकर कर्मचारियों में आक्रोश है। लोग भारी गर्मी में कोक ओवन एवं अन्य हॉट शॉप में प्रबंधन द्वारा उत्पादित लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए जीतोड़ मेहनत कर रहे हैं, लेकिन अभी भी प्रबंधन नॉन फाइनेंशियल मोटिवेशन स्कीम को चालू नहीं किया गया है।

उप महासचिव अविनाश पसीने ने सेक्टर-1 हॉस्पिटल में आ रहे गंदे पानी एवं फार्मेसी के एयर कंडीशन खराब होने की समस्या से अवगत कराया। इसमें जल्द से जल्द सुधार करवाया जाए। सचिव सुरेश कुमार ने मांग की है कि जल्द से जल्द पूर्ण एनजेसीएस की बैठक बुलाई जाए और वेतन समझौता में बचे विषय 39 महीने का एरियर नया वेतनमान एवं अन्य भत्तों पर जल्द निर्णय लिया जाए। वरिष्ठ सचिव शिव शंकर सिंह ने 2007 से पुरानी इंसेंटिव स्कीम को जल्द रिवाइज करने की मांग की।

बैठक में रमेश तिवारी, एसके खिचरिया, मदनलाल सिन्हा, चंद्रशेखर, पीवी राव, वंश बहादुर सिंह, तुरिंदर सिंह, शेखर शर्मा, विपिन मिश्रा, दीनानाथ सिंह सार्वा, जयंत बराठे, संतोष साव, शिव शंकर सिंह, जीआर सुमन, सीपी वर्मा, सुरेश कुमार, खुर्शीद कुरैशी, आर दिनेश, दीपक पांडे, प्रदीप विश्वास, श्यामसुंदर साहू, चंद्रशेखर सोनी, किशोर प्रधान, एसपी सिंह, उमापति मिश्रा, मनोहर लाल घनश्याम, आनंद बघेल, राजकुमार, एसके सोरी, डीपी खरे, संतोष ठाकुर, गुलाब दास, तरुण सैमुअल उपस्थित थे।

सुरक्षा जांच और निरीक्षण बहुत आवश्यक

वरिष्ठ सचिव संतोष साव ने एसएमएस-2 एवं संयंत्र में हो रही दुर्घटना पर चिंता व्यक्त किया। संयंत्र में कार्य करने से पहले मशीन एवं किए जाने वाले कार्य की सुरक्षा जांच एवं निरीक्षण बहुत आवश्यक है। वर्तमान की दुर्घटनाएं सुरक्षा चूक की वजह से हुई है, इसमें प्रबंधन को कार्य करने से पहले सुरक्षा जांच को जरूरी बनाया जाए। क्रेन का रोप टूटना अप्रत्याशित घटना है। प्रबंधन को मशीन की निरंतर जांच अति आवश्यक करनी चाहिए। इससे पता चलता है की मशीन में क्या समस्या है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!