मेन पाइपलाइन से अवैध बस्ती तक पहुंचा सूचनाजी.कॉम, 80 नहीं 100 से ज्यादा परिवार बसा, अब पानी का संकट, देखिए तस्वीरें

रहवासियों ने आपबीती सुनाई। नाले पर बने अवैध निर्माण की मजबूरी बयां की। सूचनाजी.कॉम ने जो कुछ वहां देखा, उसे तस्वीरों के माध्यम से आपके सामने पेश किया जा रहा है।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। जेपी सीमेंट चौक के समीप नाला किनारे बसी अवैध बस्ती…। इस वक्त चर्चाओं का विषय बनी हुई है। बीएसपी की मेन पाइपलाइन को अवैध रूप से काटकर बस्ती के रहवासियों ने अलग से पाइपलाइन बिछा लिया था। ओवर हेड टैंक तक पानी का प्रेशर नहीं बनने की वजह से बीएसपी ने अवैध कनेक्शन को काटकर हटा दिया। अब यहां रहने वालों को पानी के लिए वैकल्पिक इंतजाम करना पड़ रहा है।

बीएसपी की तरफ से दावा किया गया था कि यहां 80 अवैध निर्माण है। लेकिन यहां के रहवासियों ने स्वीकारा कि करीब 100 लोगों का परिवार यहां रहता है। नाला किनारे पक्का निर्माण का दौर जारी है, ताकि बरसात से पहले काम पूरा कर लिया जाए। इसी का जायजा लेने के लिए सूचनाजी.कॉम बस्ती में पहुंचा। वहां के लोगों ने आपबीती सुनाई। नाले पर बने अवैध निर्माण की मजबूरी बयां की। सूचनाजी.कॉम ने जो कुछ वहां देखा, उसे तस्वीरों के माध्यम से आपके सामने पेश किया जा रहा है।

100 मीटर लंबी बिछी अवैध पाइपलाइन

बस्ती के लोगों ने बताया कि पानी की समस्या था। शुद्ध पानी नहीं मिल रहा था। इस वजह से आपस में चंदा करके करीब 100 मीटर लंबी पाइपलाइन बिछाई गई ताकि घरों तक पानी पहुंच सके। बस्ती अवैध रूप से बसी है, इसलिए बीएसपी यहां तक पानी नहीं पहुंचाता है। पिछले साल विधायक देवेंद्र यादव की निधि से बस्ती में हैंडपंप लगाया गया, लेकिन उसका पानी भी गंदा आता है। नाला होने की वजह से यहां दूषित पानी आता है।

घर में बनाया कुआं, लेकिन पानी आया गंदा

कब्जेदारों ने पानी की समस्या को दूर करने के लिए घर में कुआं तक बनाया ताकि सबको पानी मिल सके। लेकिन यहां भी मायूसी हाथ लगी। पानी गंदा है। इसके निकालने के बाद छानकर पीना पड़ता है।

चुनाव के समय सब आते हैं, फिर झांका तक नहीं

अवैध बस्ती में रहने वाले एक युवक ने बताया कि यहां करीब 100 घर हैं। नाला किनारे मकान बनाकर सब रहते हैं। चुनाव के समय वोट बैंक होता है, इसके बाद अवैध बस्ती हो जाती है। यहां रहने वालों को चुनाव के समय सब पूछते हैं। पूरी व्यवस्था करने और कराने का दावा किया जाता है। चुनाव बीतने के बाद कोई झांकने तक नहीं आता। विधायक-पार्षद तक गुहार लगाई गई। वहां से आश्वासन दिया गया है कि सब संभाल लेंगे।

भिलाई स्टील प्लांंट के पीएचई विभाग के कर्मचारियों का कहना है कि पानी की मेन पाइपलाइन को नुकसान पहुंचाने का खामियाजा बीएसपी के कर्मचारी भुगत रहे थे। पानी का प्रेशर कम आ रहा था। मेन पाइनलाइन को ही काटकर कनेकशन किया गया था। 100 परिवारों तक पानी ले जाने की वजह से वजह टंकियां तक पानी भरपूर नहीं पहुंच पा रहा था। यही वजह है कि अक्सर प्रेशर की समस्या रहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!