दमकल कर्मियों संग प्लांट में उत्कृष्ट कार्य करने वाले कर्मचारी-अधिकारी को मिला शिरोमिण अवॉर्ड

जनवरी-2022 के लिए एमआरडी के चार्जमेन-कम-सीनियर ऑपरेटर कमलेश कुमार राजपूत को एवं फरवरी-2022 के लिए फायर ब्रिगेड के फायरमेन तोरण लाल साहू तथा मार्च-2022 के लिए ईएमडी चार्जमेन-कम-टेक्नीशियन रघू राम साहू को कर्म शिरोमणि पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। सेल-भिलाई इस्पात संयंत्र के सर्विसेस संगठन विभागों में मुख्य महाप्रबंधक प्रभारी (सर्विसेस) सभागार में “शिरोमणि पुरस्कार योजना” के अन्तर्गत उत्कृष्ट व अनुकरणीय कार्य संपादित करने वाले कर्मचारियों को सम्मानित किया गया। इस समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में मुख्य महाप्रबंधक प्रभारी (सर्विसेस) एसएन आबिदी विशेष रूप से उपस्थित थे। इस दौरान चीफ फायर ऑफिसर बीके महापात्रा, ईएमडी के जीएम इंचार्ज बीके सिन्हा, आरएमडी के जीएम इंचार्ज आई सेनगुप्ता तथा प्रबंधक (कार्मिक सेवाएं) एमवीवी प्रसाद सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।

ये खबर भी पढ़ें: भिलाई नगर निगम ने सेक्टर-7 के 11 मकानों से लिया पानी का सैंपल, सभी रिपोर्ट ओके, बीएसपी बोला-हर स्ट्रीट पर रहेगा फोकस, 9109169759 पर आप करें शिकायत

इस अवसर पर मुख्य अतिथि महाप्रबंधक प्रभारी (सर्विसेस) एसएन आबिदी ने जनवरी से मार्च-2022 के लिए आरएमडी के प्रबंधक पवन कुमार मल्होत्रा को बेहतरीन कार्य निष्पादन के लिए पाली शिरोमणि पुरस्कार से सम्मानित किया। इसी क्रम में जनवरी-2022 के लिए एमआरडी के चार्जमेन-कम-सीनियर ऑपरेटर कमलेश कुमार राजपूत को एवं फरवरी-2022 के लिए फायर ब्रिगेड के फायरमेन तोरण लाल साहू तथा मार्च-2022 के लिए ईएमडी चार्जमेन-कम-टेक्नीशियन रघू राम साहू को कर्म शिरोमणि पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इसके तहत उन्हें स्मृति चिन्ह, प्रशस्ति पत्र एवं उनकी धर्मपत्नी के लिए भी प्रशंसा पत्र प्रदान किया गया।

ये खबर भी पढ़ें:  SAIL कर्मचारियों का ट्रेनिंग पीरियड 2003 से सर्विस में जोड़ने जा रहा प्रबंधन, किसी भी दिन जारी होगा सर्कुलर

इस अवसर पर मुख्य अतिथि आबिदी ने सम्मानित कर्मचारियों द्वारा किये गये उत्कृष्ट कार्यों की सराहना की और विश्वास व्यक्त किया कि वे भविष्य में भी इसी प्रकार विभाग की प्रगति के लिये कार्य करते रहेंगे। कार्यक्रम का संचालन तथा आभार प्रदर्शन प्रबंधक (कार्मिक) एमवीवी प्रसाद ने किया।

ये खबर भी पढ़ें:  डिप्लोमा इंजीनियर्स ने राज्यमंत्री को घेरा, कहा-पांच साल में बदल गए तीन इस्पात मंत्री, पदनाम पर न हो सका फैसला

इस सम्मान का मुख्य उद्देश्य अपने कार्यस्थल/पाली में नवीनता, संसाधनों का बेहतर उपयोग एवं संगठनात्मक उद्देश्यों को पूरा करने के लिए सुरक्षा के मानक मापदण्डों के साथ विभाग में उल्लेखनीय प्रदर्शन करने वालों को प्रोत्साहित करना। कर्मठ एवं सृजनशील कर्मचारी को एक विशेष पहचान प्रदान कर सम्मानित करना है। इसके अन्तर्गत कर्मचारी को स्मृति चिन्ह, प्रशस्ति पत्र एवं कार्मिक की धर्मपत्नी के लिए भी प्रशंसा पत्र प्रदान कर सम्मानित किया जाता है।

ये खबर भी पढ़ें:  सेना में आई ‘अग्निपथ’ योजना, इस साल 46,000 दसवीं पास युवाओं की भर्ती, रैलियां 90 दिनों में होगी शुरू, 30 से 40 हजार मिलेगा मानदेय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!