जिस कारखाना को बीएसपी ने अवैध बताकर किया सील, संचालक ने सील-ताला तोड़कर कामकाज किया चालू, प्रबंधन ने खुर्सीपार थाना में कराया एफआइआर


भिलाई स्टील प्लांट ने कब्जेधारी व ठेकेदार आईए दास के विरुद्ध दर्ज कराया मुकदमा। आफिसर्स एसोसिएशन के पदाधिकारी भी थाने में मौजूद रहे।
सूचनाजी न्यूज, भिलाई।
खुर्सीपार में कब्जेदार के खिलाफ की गई कार्रवाई अब कानूनी लड़ाई तक पहुंच चुकी है। भिलाई स्टील प्लांट के इंफोर्समेंट डिपार्टमेंट ने 19 अप्रैल को अवैध कारखाना बताते हुए खुर्सीपार में बड़ी कार्रवाई की थी। कारखाना को सील कर दिया गया था। सील को तोड़कर कारखाना फिर से संचालित होते ही बीएसपी प्रबंधन ने इसके खिलाफ एफआइआर दर्ज कराया है।

इंफोर्समेंट डिपार्टमेंट ने बताया कि संपदा न्यायालय से पारित डिक्री के आधार पर कार्यपालिक मजिस्ट्रेट व पुलिस बल की मौजूदगी में 19 अप्रैल 2022 को 11.30 सुबह खुर्सीपार, जोन-2 स्थित बीएसपी के 21000 स्क्वायर फ़ीट भूमि पर आईए दास द्वारा किए गए अवैध कब्जा को विधि सम्मत तरीके से सील किया गया था।

अवैध कब्जेधारी द्वारा अनाधिकृत रूप से जबरिया सील/ताला तोड़ कर भिलाई इस्पात संयंत्र की भूमि को दोबारा अपने कब्जे में लेकर फैक्ट्री का संचालन कार्य शुरू कर दिया है। इसके विरूद्ध संपदा न्यायालय के आदेश के आधार पर खुर्सीपार थाने द्वारा FIR दर्ज कर लिया गया है।

बताया जाता है कि आईए दास भिलाई इस्पात संयंत्र में ठेकेदार है। पिछले कई वर्षों से बीएसपी की जमीन पर अवैध कब्जा कर फैक्ट्री चला हैं। जीई रोड खुर्सीपार जोन-2 के इस जमीन का बाजार भाव लगभग सत्तर करोड़ रुपए बताया जा रहा है। खुर्सीपार थाने में बीएसपी नगर सेवा विभाग, आईआर विभाग, लॉ विभाग के अधिकारी समेत ऑफिसर्स एसोसिएशन के पदाधिकारी उपस्थित थे।

दूसरी ओर कब्जेदार के करीबियों की तरफ से ये दावा किया जा रहा है कि स्टे लगा था। बावजूद बीएसपी ने कार्रवाई की है। इस पर बीएसपी ने स्पष्ट रूप से बोल दिया है कि कार्रवाई होने तक किसी के द्वारा वहां स्टे की कॉपी मजिस्ट्रेट को नहीं दिखाई गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!