स्टील प्रोडक्शन की पिच पर फिल्डिंग करने वाले सेल के आखिरी सीईओ और दुर्गापुर के डायरेक्टर इंचार्ज दिखे बॉलिंग और बैटिंग करते, देखिए तस्वीरें

सूचनाजी न्यूज, दुर्गापुर। दुर्गापुर स्टील प्लांट द्वारा आयोजित इंटर डिपार्टमेंट क्रिकेट टूर्नामेंट-2022 कई मायने में शानदार रहा। क्रिकेट ग्राउंड पर सेल के आखिरी सीईओ एवी कमलाकर और दुर्गापुर व बर्नपुर स्टील प्लांट के डायरेक्टर इंचार्ज बीपी सिंह क्रिकेट ग्राउंड पर एक साथ दिखे। मैच का लुत्फ उठाया। पहले बीपी सिंह ने बॉलिंग की और एवी कमलाकर ने बैटिंग। बाउंड्री पार बॉल भेजने के बाद एवी कमलाकर ने बैट बीपी सिंह को थमाया।

ये खबर भी पढ़ें: इस्को-दुर्गापुर स्टील प्लांट के डायरेक्टर इंचार्ज के बेटे से पुलिस पूछती रही घर से क्यों भागे, एक ही जवाब-सिर्फ बाप से करूंगा बात

फिर, क्या बीपी सिंह भी मझे हुए बल्लेबाज की तरह बैटिंग करते नजर आए। यह नजारा देख कर्मचारी और अधिकारी तालियां बजाते रहे। वहीं, संयंत्र के पूर्व और वर्तमान मुखियां की पत्नी भी हौसला अफजाई करती रहीं।

ये खबर भी पढ़ें: सेल का कर्मचारी गांव से घर लौटा तो पत्नी के साथ कमरे में मिला कोई और, मारपीट में कर्मी जख्मी, किसी तरह बची जान, अस्पताल में भर्ती

फ्लड लाइन टूर्नामेंट सात से 16 मई तक एएसपी स्टेडियम पर आयोजित किया गया। टूर्नामेंट का फाइनल स्टील मेल्टिंग शॉप और ब्लास्ट फर्नेस के बीच सोमवार को खेला गया। एसएमएस की टीम ने 16 ओवर में 183 रन बनाए। जवाब में उतरी ब्लास्ट फर्नेस की टीम 16 ओवर में महज 99 रन ही बना सकी। पुरस्कार वितरण समारोह के दौरान ईडी पीएंडए आर. मुनिराजू, ईडी-एएसपी एस.सुब्बाराज मौजूद रहे।

ये खबर भी पढ़ें: भिलाई स्टील प्लांट के पास इन विभागों के कार्मिकों की आवाजाही की होगी कुंडली, कल से बायोमेट्रिक रीडर मशीन से अटेंडेंस

बता दें कि ब्लास्ट फर्नेस और सिविल इंजीनियरिंग विभाग के बीच उद्घाटन मैच हुआ था। इसके बाद नियमित रूप से लीग मैच हो रहे थे। इसी बीच नौ तारीख को एवी कमलाकर भी पत्नी के साथ स्टेडियम पहुंचे थे।

बता दें कि 22 टीम दुर्गापुर स्टील प्लांट और दो टीम अलॉय स्टील प्लांट की टूर्नामेंट में उतरी थी। पीसीई, ब्लास्ट फर्नेस, सीईएम, फाउंड्री, एमएसएम, इंस्ट्रूमेंटेशन, प्लांट गैरेज, टेलीकॉम, ट्रैफिक, सीईई, आरसीएल, मर्चेंट मिल, सिंटर प्लांट, एसएमएस, सीओसीसी, आरएमएचपी, डब्ल्यूएपी एंड पीएमडी, प्रोजेक्ट, पर्सनल, एमएम, सीचआरडी, फाइनेंस, हॉस्पिटल की टीम रही। वहीं, एएसपी से एग्जीक्यूटिव व नॉन एक्जीक्यूटिव की टीम मैदान में उतरी। कुल 25 मैच खेले गए थे।

ये खबर भी पढ़ें: सेल कर्मचारियों को डी-मोटिवेट करता नॉन फाइनेंसियल मोटिवेशन स्कीम, पीआरपी की रकम दबा दिए, कर्मचारियों के गिफ्ट में बंटवारा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!