लाइसेंसधारियों को बड़ा और कर्मचारियों को छोटा आवास देने पर उठा सवाल, कब्जेदारों को रोकने एक ग्रेड बड़ा आवास आवंटित करने का आया फॉर्मूला

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। भिलाई टाउनशिप में कब्जेदारों पर हो रही कार्रवाई का भिलाई श्रमिक सभा-एचएमएस ने समर्थन किया है। कब्जेदारों को रोकने के लिए प्रबंधन को एक सकारात्मक सुझाव दिया, जिस पर अमल करने के मूड में प्रबंधन दिख रहा है। कर्मचारियों को 600 स्क्वायर फीट तक के आवास आवंटित करने की मांग की गई है। सभी कर्मचारियों को एक अतिरिक्त ग्रेड बढ़ाकर आवास आवंटित करने का फॉर्मूला दिया गया है, ताकि बड़े मकानों को कब्जेदारों से बचाया जा सके।

बीएसपी द्वारा लाइसेंसधारियों को बड़े आवास दिए जा रहे हैं, लेकिन कर्मचारियों को छोटा आवास मिल रहा है। इस अंतर को पाटने के लिए एक ग्रेड बढ़ाकर आवास देने की मांग की गई है। एचएमएस के महासचिव प्रमोद कुमार मिश्र के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल सीजीएम टाउनशिप से मुलाकात करने पहुंचा।

कोल इंडिया के 500 कर्मचारियों की नौकरी बचाने एचएमएस, सीटू, बीएमएस, इंटक और एटक आया साथ, 21 के बाद आंदोलन की शुरुआत

बैठक में आवास आवंटन की पात्रता के संबंध में चर्चा हुई। उप महासचिव हरिराम यादव ने कहा कि नगर प्रशासन द्वारा कब्जेदारों के खिलाफ जो कार्यवाही की जा रही है। वह ऐतिहासिक है। अवैध कब्जाधारियों के खिलाफ बेदखली की कार्रवाई लगातार चलती रहनी चाहिए।

साथ ही आवास आवंटन के नियमों में भी परिवर्तन करने की आवश्यकता है। भिलाई इस्पात प्रबंधन द्वारा 400 फीट तक के आवास को लाइसेंस पर देने का प्रावधान किया है। एस-1 से एस-5 ग्रेड के कर्मचारियों को आवास आवंटन में समस्या आ रही है, क्योंकि एस-4 एवं एस-5 ग्रेड के कर्मचारियों की पात्रता एनक्यू-3 तक के आवासों तक ही सीमित है, जो 400 स्क्वायर फीट से कम हैं। नियमित कर्मचारियों की आवास आवंटन की पात्रता लाइसेंस पर दिए जाने वाले आवास की पात्रता से कम होना उचित नहीं है। ग्रेड 7-8 के कर्मचारियों की पात्रता एनक्यू 4 तक की ही है। वर्तमान समय में इसे बदलने की आवश्यकता है।

Breaking News: सेल नॉन फाइनेंसियल स्कीम अवॉर्ड का कर्मचारियों ने किया बहिष्कार, कर्मी बोले-1500 का मिलना है उपहार, प्रबंधन ने 300 का थमाया

व्यवस्था परिवर्तन से 600 स्क्वायर फीट तक के आवास हो सकेंगे आवंटित

यूनियन के महासचिव प्रमोद कुमार मिश्र ने कहा कि एक ग्रेड बढ़ाने से कर्मचारियों को लाभ होगा। इसकी व्यवस्था से जो कर्मचारी एस-7, एस-8 ग्रेड में हैं। उन्हें बड़े आवास आवंटन की पात्रता होगी। एस-4 एवं एस-5 ग्रेड के कर्मचारियों को भी 600 स्क्वायर फीट तक के आवास आवंटित किए जा सकेंगे। अवैध कब्जों पर भी रोक लगेगी। बैठक में प्रबंधन की ओर से सीजीएम टाउनशिप यूके झा, जीएम टाउनशिप केसी त्रिपाठी, यूनियन की ओर से साजिद खान, बीजी कारे, रघुवर गोंड, अवध बिहारी कुशवाहा आदि उपस्थित थे।

फुल एनजेसीएस को लेकर दुर्गापुर स्टील प्लांट से निकली चिंगारी, दिनभर ईडी पीएंडए रहे बंधक, शुरू होगी भूख हड़ताल

आवास आवंटन की पात्रता परिवर्तन का ये है फॉर्मूला

एस-1 से एस-3: एनक्यू-3
एस-4 से एस-7: एनक्यू-4
एस-8 से एस-11: एनक्यू-5

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!