देश में दौड़ी 134 किलोमीटर की रफ्तार से ट्रेन, ट्रैक से लेकर सिग्नल तक सब सही

पश्चिम मध्य रेलवे ने वर्ष 2022-23 के शुरुआत में ही कुल 07 किमी के तिहरीकरण का कार्य पूर्ण किया।
-इन्फ्रास्ट्रक्चर में विस्तार कर पमरे के वर्ष 2021-22 में कुल 179 किमी के दोहरीकरण विद्युतीकरण का कार्य पूर्ण।
-तिहरीकरण लाइन पर 130 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से स्पीड ट्रायल किया।
सूचनाजी न्यूज, जबलपुर।
औद्योगिक क्षेत्रों से जुड़े रेल लाइन परियोजनाओं को पश्चिम मध्य रेल अधोसरंचना निर्माण कार्य को गति प्रदान कर रहा है। पश्चिम मध्य रेल जबलपुर मंडल के कटनी-बीना रेल खंड पर सागर से मकरोनिया स्टेशन के मध्य 07 किलोमीटर तिहरीकरण कार्य का रेल संरक्षा आयुक्त सुवोमोय मित्रा द्वारा निरीक्षण किया गया। सागर से मकरोनिया के मध्य तिहरीकरण लाइन पर इलेक्ट्रिक इंजन से 130 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से सफल स्पीड ट्रायल भी किया गया। इस दौरान बीच में स्पीड 134 किलोमीटर तक भी पहुंचती रही, लेकिन यह चंद लम्हे के लिए ही थी। एवरेज स्पीड 130 किलोमीटर प्रति घंटे की ही थी।

मानव तस्करी पर लगाम लगाने आरपीएफ और कैलाश सत्यार्थी फाउंडेशन आया साथ, एसोसिएशन फॉर वॉलंटरी एक्शन के साथ एमओयू साइनhttps://suchnaji.com/rpf-and-kailash-satyarthi-foundation-come-together-to-rein-in-human-trafficking-sign-mou-with-association-for-voluntary-action/

इस अवसर पर मुख्यालय से प्रमुख विभागाध्यक्ष मुख्य प्रशासनिक अधिकारी निर्माण एवं मंडल के मंडल रेल प्रबंधक और इंजीनियरिंग, परिचालन, इलेक्ट्रिकल, सिग्नल एवं दूरसंचार विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। निरीक्षण के दौरान रेल संरक्षा आयुक्त ने इस रेलखंड पर संरक्षा एवं सुरक्षा से जुड़े ट्रैक ब्रिजों, स्टेशन, संसाधनों, ओएचई लाइन, सम्बद्ध उपकरण तथा सिगनलिंग आदि का निरीक्षण किया और उनके कार्य क्षमता को परखा। इस रेलखण्डों पर सभी प्रकार के रेलवे मापदंडों के अनुसार निर्माण कार्य किया गया है।

सागर से मकरोनिया रेलखण्ड पर 02 रेलवे स्टेशनों सागर तथा मकरोनिया का भी संरक्षा की दृष्टि से निरीक्षण किया। सागर से मकरोनिया के मध्य रेलखण्ड पर 08 छोटे ब्रिज, 02 रोड़ ओवर ब्रिज, 03 कर्व और 04 समपार फाटक का निर्माण कार्य किया गया है।

सेल के स्पोर्ट्स समर कैंप से हजारों को मिली नौकरी, क्रिकेटर राजेश चौहान, अमनदीप खरे व ओलंपियन राजेंद्र प्रसाद भी कैंप की उपज

जानिए पश्चिम मध्य रेलवे में पूरे किए गए कार्यों के बारे में

-पमरे ने वर्ष 2022-23 में दोहरीकरण एवं तिहरीकरण का कुल 07 किमी और वर्ष 2021-22 में दोहरीकरण एवं तिहरीकरण का कुल 179 किमी का कार्य पूर्ण किया है।
-बीना से कोटा सेक्शन में अशोकनगर से ओर 13 किमीए भौरां से बिजोरा 26 किमी, बीना से कंजिया तक 20 किमी, रुठियाई से मोतीपुरा चौकी 17 किमी, बिजोरा से बारां 13 किमी एवं ओर से पिपरईगांव 14 किमी तक सहित कुल 103 किमी दोहरीकरण का कार्य पूर्ण किया गया।
-कटनी से सिंगरौली सेक्शन मे न्यू कटनी जंक्शन से कटंगिखुर्द तक 08 किमी, देवराग्राम से मझौली तक 08 किमी एवं सलहना से खन्ना बंजारी 21 किमी तक कुल 37 किमी दोहरीकरण का कार्य पूर्ण किया गया।
-रीवा से सतना सेक्शन में सकरिया-कैमा तक 06 किमी दोहरीकरण का कार्य पूर्ण किया गया।
-कटनी से बीना तिहरीकरण परियोजनाओं के अंतर्गत कार्य में हरदुआ से रीठी 15 किमी, मालखेड़ी से खुरई 18 किमी एवं सागर से मकरोनिया 07 किमी तक कुल 40 किमी तिहरीकरण का कार्य पूर्ण किया गया।

राष्ट्रीय प्रतिस्पर्धाओं में चयन के बाद भी खुद के खर्चे पर खेल नहीं सकता चंदन, सीएम भूपेश बघेल ने की मदद

मध्यप्रदेश के औद्योगिक क्षेत्र का आर्थिक विकास होगा तेजी से

पश्चिम मध्य रेल जबलपुर के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राहुल जयपुरियार का कहना है कि कार्य की गुणवत्ता एवं स्पीड ट्रायल पर रेल संरक्षा आयुक्त ने संतुष्टि व्यक्त की। इस रेलखण्ड के कमीशन होते ही गाड़ियों का परिचालन शुरू हो जाएगा। तिहरीकरण होने से गाड़ियों की रफ्तार बढ़ेगी और इस क्षेत्र का आर्थिक विकास भी होगा। सागर से मकरोनिया रेलखण्डों का तिहरीकरण हो जाने से गाड़ियों की गति बढ़ेगी और मालगाड़ियों के परिचालन में सुगमता आएगी। साथ ही मध्यप्रदेश राज्य के औद्योगिक क्षेत्र का आर्थिक विकास भी होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!