सेल बोनस पर मचा बवाल, पीएम मोदी तक उठ रहा सवाल

0
SAIL Bonus social media
लगातार दो मीटिंग के बाद भी सेल में बोनस तय न होने पर सोशल मीडिया पर छाया मुद्दा। ट्रेड यूनियन नेताओं पर गुस्सा उतारा जा रहा।
AD DESCRIPTION

सेल कर्मचारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, इस्पात मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और भाजपा नेताओं को ट्वीट कर रहे।

अज़मत अली, भिलाई। स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड-सेल में इस वक्त इस्पात उत्पादन से ज्यादा बोनस का मुद्दा छाया हुआ है। सारे मुद्दे पिछड़ चुके हैं। 52 हजार कर्मचारियों को उम्मीद थी कि उनका बोनस तय हो जाएगा। फिलहाल, 10 तारीख को होनी वाली तीसरी मीटिंग तक इंतजार ही करना होगा। इधर-बार-बार मीटिंग और प्रबंधन के रवैये से बौखलाए कर्मचारियों ने सोशल मीडिया पर मोर्चा खोल दिया है।

ये खबर भी पढ़ें:SAIL BONUS MEETING UPDATES: यूनियन 18 हजार घटी और प्रबंधन 5 हजार बढ़ा, सेल बोला-26 हजार एडवांस देंगे, विरोध पर अब 10 अक्टूबर को तीसरी मीटिंग

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

ट्रेड यूनियन नेताओं की बखिया उधेड़ी जा रही है। पसंदीदा यूनियन का बचाव तो विरोधियों पर सारा ठीकरा फोड़ने का गिरोह सक्रिय हो गया है। सेल इकाइयां भिलाई स्टील प्लांट, बोकारो, दुर्गापुर, इस्को बर्नपुर, अलाय, राउरकेला, सेलम, विश्वेश्वरैया और खदानों के कर्मचारियों ने हर तरफ से घेराबंदी शुरू कर दी है। कर्मचारियों ने अमृत महोत्सव के दौर में बगैर बोनस दुर्गा पूजा मनाने की बात को पीएम नरेंद्र मोदी तक पहुंचानी शुरू कर दी है। ट्‌वीट कर प्रधानमंत्री का ध्यान आकृष्ट कराया जा रहा है।

ये खबर भी पढ़ें:बोनस का कारवां 84 से 45 हजार होते जी.संजीवा रेड्‌डी तक पहुंचा, इधर-बीएमएस क्या बोल गया…

गृह मंत्री अमित शाह, इस्पात मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, भाजपा नेताओं को खासतौर से ट्वीट किया जा रहा। सोशल मीडिया की कमान संभालने वाले कुछ कर्मचारियों का वर्ग हर नेता को आड़े हाथ ले रहा है। इधर-भिलाई स्टील प्लांट के कर्मचारियों के एक वाट्सएप ग्रुप पर भाजपा समर्थक कर्मचारी को कइयों ने घेर लिया। लिखा-भाई, केंद्र में आपकी सरकार, सांसद आपके, इस्पात मंत्री आपके…भाई एक फोन सेल चेयरमैन को करा दो, सारा मुद्दा हल हो जाएगा…यहां वाट्सएप पर ज्ञान मत दो। वहीं, दूसरे एक ग्रुप में इंटक के राष्ट्रीय अध्यक्ष डाक्टर संजीवा रेड्‌डी के शान में नकारात्मक कसीदे पढ़े जा रहे हैं।

ये खबर भी पढ़ें:WCL की एक ही बैठक में रोजगार, कैंटीन, सुरक्षा, चिकित्सा और फीमेल वीआरएस के मुद्दे हल, पढ़ें-एचएमएस के 21 सवाल और सीएमडी का जवाब

बता दें कि सेल कर्मचारियों का बोनस तय करने के लिए पहली मीटिंग 19 सितंबर को हुई थी। कर्मचारी वर्ग की तरफ से 63 हजार रुपए बोनस की मांग की गई थी, जिसे प्रबंधन ने स्वीकार करने से इन्कार कर दिया था। दूसरी मीटिंग 24 सितंबर को हुई। प्रबंधन 21 हजार से बढ़कर 26 हजार रुपए पर आया। इधर-यूनियन 63 हजार से घटकर 45 हजार तक पहुंच चुकी है। बीच का रास्ता न निकलने पर अब 10 अक्टूबर को तीसरी मीटिंग होगी।

ये खबर भी पढ़ें:निर्वाचित यूनियन ही बोनस मीटिंग से बाहर, जानिए विश्वेश्वरैया और सेलम स्टील प्लांट का दर्द, एक लाख बोनस की मांग

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here