Pension Fund: कोल इंडिया के तर्ज पर सेल भी जोड़े प्रति टन 10 रुपए स्टील का भाव, कर्मचारियों-अधिकारियों को मिलेगा फायदा

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। पेंशन फंड बढ़ाने के लिए सेल कर्मचारियों की तरफ से प्रबंधन को बेहतर सुझाव दिया गया है। कोल इंडिया के फॉर्मूले को सेल में लागू करने की मांग की गई है। कर्मचारियों का कहना है कि पेंशन फंड में बढ़ोतरी के लिए स्टील के भाव में 10 रुपया प्रति टन की राशि ली जाए। जिस तरह से कोल इंडिया में होता है।

सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम कोल इंडिया 10 रुपया प्रति टन कीमत में जोड़कर लेता है। कोयला का भाव तय करने से पहले उसमें दस रुपए पेंशन फंड के लिए जोड़ दिया जाता है। कुल बिक्री से होने वाली आय में दस रुपए प्रति टन के हिसाब से अलग कर लिया जाता है। इसी राशि को पेंशन फंड में जमा की जाती है। इसका लाभ कर्मचारियों और अधिकारियों को मिलता है। इसी फॉर्मूले का सेल में भी लागू करने की आवाज उठाई गई है।

तो क्या इस्पात मंत्री को सौंपा ज्ञापन डस्टबिन में ही गया, कर्मचारी बने बेवकूफ, ये है पूरा मामला

इंटक के अतिरिक्त महासचिव संजय साहू का कहना है कि सेल के कर्मचारियों को पेंशन स्कीम के तहत जो राशि दी जाती है, उसके उपरांत सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम कोल इंडिया की भांति 10 रुपया प्रति टन कीमत में जोड़कर लिया जाए। जो राशि साल भर में जमा होती है, उसे सभी कर्मचारियों के पेंशन फंड में वितरित किया जाता है, उसी तर्ज पर सेल में स्टील के भाव में 10 जोड़कर लिया जाए।

मोदी सरकार की उद्योग नीतियों पर भड़का बीएमएस, निजीकरण और विनिवेश के खिलाफ लाखों कर्मी घेरेंगे संसद

इससे कर्मचारियों को बेहतर पेंशन मिल सकेगी। इंटक यूनियन इसके लिए सेल चेयरमैन के नाम से ज्ञापन सौंपा है। सेल प्रबंधन इस पर जल्द निर्णय ले सकता है। एक लाख करोड़ का बिजनेस सेल ने इस बार किया है। इस आंकड़े से पेंशन फंड में बड़ी राशि जमा हो सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!