एफएसएनएल को निजीकरण से बचाने के लिए अधिकारियों, कर्मचारियों व ठेका मजदूरों ने विधायक देवेंद्र से लगाई गुहार

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। फेरो स्क्रैप निगम लिमिटेड-एफएसएनएल के निजीकरण के खिलाफ कर्मचारियों और अधिकारियों ने संयुक्त रूप से आंदोलन शुरू किया है। कंपनी को बचाने के लिए हर स्तर पर गुहार लगा रहे हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल तक अपनी बात रखने वाले कार्मिकों ने सियासी दबाव बनाने का सिलसिला रोका नहीं है। भिलाई के विधायक देवेंद्र यादव से भी अधिकारियों और कर्मचारियों ने मुलाकात की। फेरो स्क्रैप निगम लिमिटेड को निजीकरण से बचाने के संबंध में गुहार लगाई।

फेरो स्क्रैप निगम लिमिटेड-एफएसएनएल इस्पात मंत्रालय के अधीनस्थ एक सरकारी उपक्रम है, जिसका मुख्यालय भिलाई में है। यह संस्था मुख्यतः सरकारी स्टील उपक्रमों जैसे सेल, आरआईएनएल एवं एनएमडीसी जैसे उपक्रमों में स्क्रैप का डिस्पोजल करती है।

कोल इंडिया के करीब 500 कर्मचारी होंगे निलंबित, अनिश्चितकालीन हड़ताल की तैयारी में एचएमएस

फेरो स्क्रैप निगम लिमिटेड विगत 42 वर्षों से लगातार प्रॉफिट में है। फिर भी केंद्र सरकार द्वारा फेरो स्क्रैप निगम लिमिटेड का निजीकरण किया जा रहा है। इस फैसले से कर्मचारियों में केंद्र सरकार के प्रति नाराजगी है और सभी कर्मचारियों और अधिकारियों द्वारा निजीकरण प्रक्रिया का पुरजोर विरोध किया जा रहा है।

इसी क्रम में बुधवार को फेरो स्क्रैप निगम लिमिटेड के अधिकारियों, कर्मचारियों और ठेका श्रमिकों द्वारा विधायक देवेन्द्र यादव से मुलाकात कर केंद्र सरकार द्वारा किए जा रहे निजीकरण के सम्बन्ध में जानकारी दी गई। अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने अपनी समस्याओं से विधायक को अवगत कराया।

भिलाई स्टील प्लांट के एरिया इंस्पेक्टर को परिवार सहित जान से मारने की धमकी देने वाले दलाल शैलेंद्र सिंह पर एफआइआर

विधायक ने फेरो स्क्रैप निगम लिमिटेड के कर्मचरियों को आश्वस्त किया कि फेरो स्क्रैप निगम लिमिटेड का निजीकरण नहीं होने दिया जाएगा। साथ ही साथ विधायक ने फेरो स्क्रैप निगम लिमिटेड के अधिकारियों और कर्मचारियों को हर संभव मदद के लिए आश्वस्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!