उत्पादन कम होते ही दुर्गापुर स्टील प्लांट के दो कर्मचारियों में झड़क, एक कर्मी ने दूसरे की दांत से काटी अंगुली

सूचनाजी न्यूज, दुर्गापुर। प्रोडक्शन को लेकर दुर्गापुर स्टील प्लांट के दो कर्मचारियों के बीच हाथापाई हो गई है। नाइट शिफ्ट में बार-बार रोलिंग में आ रही खामियों को लेकर रोलर और ओसीटी के बीच मामूली कहासुनी हाथापाई तक पहुंच गई। मामला इतना तूल पकड़ लिया कि रोलर ने ओसीटी की अंगुली को ही काट लिया।

लहूलुहान हालत में ओसीटी दर्द से काफी देर तक चीखता रहा। मिल में हंगामा होते ही अधिकारियों ने बीच-बचाव किया। किसी तरह मामले को शांत कराया गया। दुर्गापुर अस्पताल में जख्मी कर्मचारी का उपचार कराया गया है, लेकिन वहां मारपीट के बजाय दरवाजे में अंगुली फंसने से जख्म की जानकारी दी गई है।

ये खबर भी पढ़ें:सफर में बीएसपी कर्मी की बिगड़ी तबीयत, इलाज खर्च आया पौने चार लाख, प्रबंधन थमा रहा 42 हजार

कंट्रोल पुलपिट में कार्यरत ओसीटी मानिक पार्थ सारथी बनर्जी और रोलर प्रत्युष चटर्जी के बीच विवाद हुआ है। मानिक पार्थ की तरफ से बताया जा रहा है कि प्रोडक्शन में दिक्कत हो रही थी। मिल का प्रॉब्लम था। रोलर को इशारा करके बोला गया कि सेक्शन ठीक नहीं आ रहा है। वह ओवर कांफिडेंस में बोला कहीं कुछ नहीं है।

सिस्टम को चेक किया तो खामी मिली। दो-तीन राउंड की रोलिंग खराब हो चुकी थी। शिफ्ट इंचार्ज ने हस्तक्षेप किया। शिकायत करने की बात को लेकर कहासुनी हुई से विवाद शुरू हुआ था। आरोप हे कि कंट्रोल पुलपिट के ओसीटी पार्थ सारथी बनर्जी को धक्का देते हुए रोलर प्रत्युष चटर्जी ने दांत से काट लिया।

ये खबर भी पढ़ें:300 कर्मचारियों व अधिकारियों को जून में मिलेगा 60 ग्राम चांदी का सिक्का, एक-एक कर्मी के नाम होगा पक्का बिल

विभागीय कर्मचारियों ने सलाह दी है कि दांव काटने को हल्के में न लिया जाए। कुत्ता कांटने से जिस तरह जहर फैलता है, उसी तरह इंसान के काटने से भी अक्सर खतरा हो जाता है। इसलिए रैबिस इंजेक्शन लगाना जरूरी है। फिलहाल, पीड़ित कर्मचारी इंजेक्शन लगवाने की तैयारी में है।

विभागीय कर्मचारियों का कहना है कि दोनों ही सीनियर टेक्नीशियन हैं। दोनों का ही नाइट शिफ्ट ड्यूटी चल रहा था। प्रोडक्शन कम होने की वजह से दोनों में झड़प हुई। शोर में चार बजे दोनों के बीच हाथापाई तक हो गई। मानिक ने हत्या का प्रयास का केस दर्ज कराने की बात बोल रहे थे। बता दें कि यूपी में एक व्यक्ति की अंगुली को दांत से काटने पर छह माह की सजा तक हो चुकी है।

ये खबर भी पढ़ें:रूस-यूक्रेन वार घटा रहा था बीएसपी का इस्पात उत्पादन, चार माह बाद चेकोस्लोवाकिया से आया हॉट ब्लास्ट वॉल्व, अब बढ़ेगा प्रोडक्शन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!