एनएमडीसी खदान के कर्मचारियों ने ग्रामीणों का दर्द बयां किया सीएम भूपेश बघेल से, थमाई मांगों की फेहरिस्त

सूचनाजी न्यूज, किरंदुल। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के दंतेवाड़ा दौरे पर एनएमडीसी के कर्मचारियों, नगरवासियों, परियोजना एवं ग्रामीणों के हितों से जुड़े कई मुद्दों का मांग पत्र सौंपा गया है। मेटल माइंस वर्कर्स यूनियन (इंटक) शाखा किरंदुल के सचिव एके सिंह ने सीएम को मांगपत्र सौंपा। मुख्यमंत्री द्वारा समस्याओं के समाधान का आश्वासन दिया है।

मेटल माइंस वर्कर्स यूनियन (इंटक) शाखा किरंदुल द्वारा दी गई मांग पत्र में प्रमुख रूप से किरन्दुल में सर्वसुविधायुक्त बस स्टैण्ड निर्माण की मांग की गई है। किरन्दुल एवं बचेली वासियों के लिए पाढापुर स्थित मुक्तिधाम में पर्यावरण संरक्षण को दृष्टिगत रखते हुए विद्युत शवदाह गृह को अतिशीघ्र पूर्ण करवाने, किरन्दुल परियोजना के कर्मचारियों एवं नगरवासियों के हित में वार्ड क्र. 03.04 एवं 08 से वार्ड क्र. 17, 18 के मध्य स्टील ब्रिज निर्माण की मांग की गई।

ये खबर भी पढ़ें: अधिकारियों को 281 करोड़ मिला पीआरपी, दहशरा में और मिलेगा 664 करोड़, ग्रेच्युटी सिलिंग से 65 करोड़ की बचत, इधर-वेतन समझौते पर खर्च हुआ 4 करोड़

इसी तरह नगर के वर्तमान जनसंख्या घनत्व को दृष्टिगत रखते हुए किरन्दुल स्थित शासकीय 30 बिस्तर चिकित्सालय का 100 बिस्तर अस्पताल में उन्नयन करते हुए बेहतर स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने तथा कम से कम 02 शव वाहन उपलब्ध कराने की जरूरत बताई गई। किरन्दुल स्थित प्रायः समस्त शासकीय विद्यालयों की भवन आदि की वर्तमान स्थिति उपयुक्त नहीं है।

अतः उनके जीर्णोद्वार करते हुए कम्प्यूटर प्रोजेक्टर, स्मार्ट क्लासेस, लाइब्रेरी, खेल-कूद की समस्त सामग्री एवं फर्नीचर आदि सर्वसुविधायुक्त उन्नयन करने तथा स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम विद्यालय की शाखा किरन्दुल में उपलब्ध कराने, किरन्दुल से गीदम तक का सड़क मार्ग की मांग की गई है।

ये खबर भी पढ़ें:चेयरमैन सोमा मंडल बोलीं-सेल में कोई मुद्दा पेंडिंग नहीं, दुर्गापुर के कर्मी भड़के, एक घंटे तक अधिकारियों को खड़ा किया सड़क पर, कहा-एकमुश्त लेंगे एरियर

मुख्यमंत्री से ये भी मांग की गई

-किरन्दुल से दंतेवाड़ा तक के सड़क मार्ग में पर्याप्त रोशनी की व्यवस्था की जाए।
-दंतेवाड़ा जिले के खेल प्रतिभाओं को तराशने एवं उन्हें आगे बढ़ने का अवसर प्रदान के लिए जिले में आवासीय स्पोर्ट्स अकादमी की सुविधा प्रदान की जाएञ
-जिले में शिक्षा के क्षेत्र में गुणवत्ता एवं युवाओं के रोजगारोन्मुख प्रशिक्षण हेतु डीएड, बीएड, बीपीएड आदि कोर्सेस की सुविधायें प्रदान की जाए।
-किरन्दुल एवं निकटवर्ती ग्रामीण क्षेत्र के विद्यार्थियों के लिए किरन्दुल में स्थानीय स्तर पर आईटीआई एवं बीएससी नर्सिंग कोर्सेस की सुविधा प्रदान की जाए।

ये खबर भी पढ़ें: गौतम अडानी के बेटे करण ने छत्तीसगढ़ में रखा कदम, एसीसी जामुल सीमेंट प्लांट का किया दौरा

लौह नगरी में पीने योग्य पानी नहीं

लौह नगरी किरन्दुल में वर्तमान में पेयजल की समस्यायें व्याप्त है। यहां उपलब्ध पानी में स्वास्थ्य मानकों की दृष्टि से खनिज लवण अपर्याप्त है। अतः बेहतर स्वास्थ्य के लिए शुद्ध पेयजल हेतु शबरी नदी से जलापूर्ति की व्यवस्था कराने आदि की मांग की गई है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से भेंट एवं ज्ञापन प्रस्तुत करने के अवसर पर मेटल माइंस वर्कर्स यूनियन (इंटक) शाखा किरंदुल के सचिव एके सिंह, संगठन सचिव राकेश लाल सहित यूनियन के पदाधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!