सेल अफसरों को उनकी पत्नियां दे रहीं वाट्सएप थेरेपी, आफिस से घर तक बदला मन-मिजाज

भिलाई इस्पात संयंत्र के सामग्री प्रबंधन विभाग के अधिकारियों की पत्नियों ने Gorgeous Girls Group बनाकर बनीं सहेलियां। वाट्सएप ग्रुप का मनाया स्थापना दिवस।

Gorgeous Girls Group…। यह RRR की तरह कोई फिल्मी नाम नहीं बल्कि वाट्सएप ग्रुप है। यह ग्रुप सेल के अधिकारियों के लिए वाट्सएप थेरेपी का काम कर रहा है। आफिस से घर तक का मन-मिजाज इसी ग्रुप के जरिए बदलने की कोशिश की गई, जिसमें काफी हद तक अफसरों की पत्नियों को कामयाबी भी मिल चुकी है। 40-50 महिलाओं ने मिलकर आफिस से घर तक रिश्तों की डोर को मजबूत करने का ताना-बाना बुन दिया है। विभाग की महिला अधिकारी भी इस ग्रुप में जुड़ी हुई है। ग्रुप ने अपना आठवां स्थापना दिवस तक मनाया।
जी हां…बात हो रही भिलाई इस्पात संयंत्र के सामग्री प्रबंधन विभाग के अधिकारियों की पत्नियों की। एक अभिनव सोच के तहत इन महिलाओं ने एकजुट होकर अपने पतियों की स्ट्रेस मैनेजमेंट में सहायता करना शुरू किया। 8 साल पहले इस समूह के बनने से पूर्व ये महिलाएं पतियों के कार्यस्थल की समस्याओं को ज्यादा नहीं समझती थीं। इन्हें लगता था कभी देर क्यों हुई और कभी इतनी लंबी मीटिंग क्यों चली? पति के साथ आफिशियल पार्टी में भी नहीं जाना चाहती थीं,क्योंकि किसी को जानते नहीं थे और बोर होते थे।
बीएसपी के इसी विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी की पत्नी ने दो-चार महिलाओं को लेकर ग्रुप बनाया और फिर सामग्री प्रबंधन विभाग के सभी अधिकारियों की पत्नियों को जोड़ती चली गईं। जूनियर आफिसर से लेकर ईडी तक की पत्नी इस ग्रुप की सदस्य हैं। फिर, क्या एक-दूसरे से अपनी पीड़ा साझा करने का सिलसिला शुरू हुआ जो आफिस तक पहुंचा। आफिस में चर्चा होने लगी। समस्या समाधान तेजी से होने लया। घर पर समय देने की बात तय हो गई। खास यह कि सभी अधिकारी भी एक-दूसरे से जुड़ गए, जो कायस्थल पर भी संभव नहीं हो रहा था।
एक सदस्य ने सूचनाजी.कॉम को बताया कि धीरे-धीरे अपने पति के विभाग की सारी महिलाओं को जोड़ा गया था। और आज हम सब इतनी अच्छी सहेलियां हैं कि यह बात मिसाल के तौर पर दी जाती है। इस समूह के शुरू होने के बाद हम सब आपस में मिलकर जब बातें शेयर करते हैं तब हमें पता चलता है कि हमारे पति भिलाई इस्पात संयंत्र के प्रगति में निरंतर साथ देने के लिए अपना पूरा समय वहां देना चाहते हैं। उस समय हम उनको मानसिक शांति देकर घर में शांतिपूर्ण वातावरण का निर्माण कर उनकी सहायता कर सकते हैं। इससे निश्चित रूप से ऑफिस में कार्य क्षमता अच्छी रहेगी।

बच्चों को संभालने से लेकर फैशन तक ज्ञान हो रहा साझा


Gorgeous Girls Group के जरिए जुड़ी महिलाएं एक-दूसरे के घर परिवार व व्यक्तिगत समस्याओं में भी एक दूसरे की मदद करती है। वरिष्ठ सदस्य छोटे बच्चों की मां को परवरीश संबंधी सलाह देती है एवं उनसे नए फैशन सीखती हैं। यह महिलाएं मिलकर कभी गरीब बच्चों की शिक्षा में अपना समय देकर सहयोग करती हैं और कभी एक साथ वृक्षारोपण कर पर्यावरण संतुलन में भागीदार बनती है। इन सबके साथ यह समूह कोई साधारण समूह नहीं, क्योंकि इन महिलाओं के एक साथ रहने से इनके पतियों की कार्यस्थल पर कार्य क्षमता में वृद्धि होती है।

अफसरों के रिश्ते भी हुए मजबूत


एक सदस्य ने बताया कि इन 8 वर्षों में इस ग्रुप के कारण न केवल अधिकारियों की पत्नियां, बल्कि इससे ऑफिसर्स में भी आपसी रिश्ते मजबूत हुए हैं। उल्लेखनीय है 2018 में सामग्री प्रबंधन नाइट में पूरे विभाग ने मिलकर अभूतपूर्व कार्यक्रम प्रस्तुत किया था, जिसमें जूनियर ऑफिसर्स से लेकर जीएम तक ने शिरकत की थी। उन्होंने नाटक, गीत,नुक्कड़ नाटक,नृत्य नाटिका आदि की सहायता से सामाजिक सरोकार के कई संदेश को दिया और उसके साथ भिलाई इस्पात संयंत्र के साथ अपनी सामाजिक प्रतिबद्धता भी निभाई। हम सब में कई दूसरे प्रदेशों से विवाह पश्चात भिलाई आई हुई हैं, लेकिन इस समूह द्वारा उन्हें भिलाई की संस्कृति को जानने में भी सहायता मिलती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!