वन्यप्राणी संरक्षण सप्ताह: मैत्रीबाग में सजी समापन समारोह की शाम, बच्चों की चित्रकारी और सांस्कृतिक कार्यक्रम ने किया मोहित

0
Vanyaprani Sanrakshan Saptah 3
मैत्रीबाग ,वार्षिक प्रतिवेदन उपमहाप्रबंधक (उद्यान) डाक्टर एनके जैन द्वारा प्रस्तुत किया गया। मुख्य अतिथि वन संरक्षक, दुर्ग बीपी सिंह थे।
AD DESCRIPTION

ईडी पीएंडए एमएम गद्रे ने कहा कि वन्यप्राणी संरक्षण सप्ताह जैसे कार्यक्रम न केवल ज्ञानवर्धक होते हैं बल्कि आने वाली पीढ़ी को भी जागरूक करने में सहायक और कारगर होते हैं

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। भिलाई इस्पात संयंत्र के उद्यान विभाग द्वारा अक्टूबर के प्रथम सप्ताह में वन्यप्राणी संरक्षण सप्ताह के अन्तर्गत स्कूली बच्चों के मध्य चित्रकला और भाषण प्रतियोगिता सहित अन्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया। 9 अक्टूबर को मैत्रीबाग के मोमबत्ती लॉन में समापन समारोह हुआ। इस अवसर पर रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। मुख्य वन संरक्षक, दुर्ग बीपी सिंह मुख्य आतिथ्य एवं कार्यपालक निदेशक (कार्मिक एवं प्रशासन) एमएम गद्रे की अध्यक्षता तथा वनमंडलाधिकरी, दुर्ग शशि कुमार एवं मुख्य महाप्रबंधक (नगर सेवाएं एवं सीएसआर) एसव्ही नंदनवार, जीएम संजय कुमार की मौजूदगी में कार्यक्रम हुआ। इस कार्यक्रम में विभागीय अधिकरियों, कर्मचारियों, स्कूली बच्चों सहित गणमान्य नागरिकों ने बड़ी संख्या में अपनी उपस्थिति दी।

ये खबर भी पढ़े… बोनस को लेकर इस्को बर्नपुर से भी उठी आवाज़, जानिए क्या है बात…

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

उद्यान विभाग के उप महाप्रबंधक डाक्टर एनके जैन एवं पीपी राय एवं अन्य विभागीय अधिकारी एवं कर्मचारियों द्वारा मुख्य अतिथि एवं अतिथियों का स्वागत किया गया। प्रतिभागी बच्चों द्वारा बनाई गई पेंटिंग एवं प्रदर्शित फोटोग्राफी का अतिथियों द्वारा अवलोकन किया गया। विभाग की ओर से वार्षिक प्रतिवेदन उपमहाप्रबंधक (उद्यान) डाक्टर एनके जैन द्वारा प्रस्तुत किया गया, जिसमें उनके द्वारा उद्यान विभाग द्वारा किये गये कार्यों की विस्तृत रूप से जानकारी दी गई एवं अतिथियों का अभिवादन किया गया।

ये खबर भी पढ़े… SAIL-भिलाई क्लब पर पुलिस का छापा, देर रात तक दारू पीते हैं तो हो जाएं सतर्क

मुख्य अतिथि बीपी सिंह ने कहा कि वन्य प्राणियों के रूप में प्रकृति ने हमें अनमोल धरोहर दी है जिसको संजोकर और संभाल कर रखना विभागीय नहीं बल्कि सामूहिक जिम्मेदारी है इस बात का स्मरण हमें वन्यप्राणी संरक्षण सप्ताह जैसे आयोजनों से होता है क्योंकि कि ऐसे आयोजन वन्यप्राणियों के संरक्षण में जागरूकता पैदा करने में मील का पत्थर साबित होते हैं।

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे एमएम गद्रे ने कहा कि वन्यप्राणी संरक्षण सप्ताह जैसे कार्यक्रम न केवल ज्ञानवर्धक होते हैं बल्कि आने वाली पीढ़ी को भी जागरूक करने में सहायक और कारगर होते हैं, बड़ी संख्या में स्कूली बच्चों की प्रतिभागिता और उपस्थिति इस बात का साक्षात् प्रमाण हैं। भिलाई इस्पात संयंत्र प्रबंधन भी न केवल पर्यावरण की रक्षा के लिए बल्कि वन्य प्राणियों की रक्षा के लिए पूरी तरह से सजग और सतर्क है।

ये खबर भी पढ़े…BSP की उत्पादन क्षमता 21 हजार टन, प्रोडक्शन हो रहा 14 हजार टन, कर्मियों को इंसेंटिव और कंपनी को प्रॉफिट में नुकसान, इंटक बोला-सेल बोनस फॉर्मूले का होगा विरोध

विशेष अतिथि शशि कुमार ने कहा कि किसी भी कार्यक्रम की सार्थकता जनभागीदारी से ही सुनिश्चित की जा सकती है। उन्होंने इस अवसर पर संयंत्र के उद्यान विभाग के कार्यों की सराहना करते हुये टाइगर प्रोजेक्ट सहित अन्य कार्यो में वन विभाग की प्रतिबद्धता दोहराई। एसवी नंदनवार ने कहा कि प्रकृति के संतुलन में वन्यप्राणी हमेशा ही सहायक सिद्ध होते हैं और उनका संरक्षण सामूहिक जिम्मेदारी है जिसका निर्वहन स्थानीय स्तर पर भी उद्यान विभाग द्वारा नियमित रूप से किया जा रहा है।

ये खबर भी पढ़े…बीएसपी में बाहरी ठेकेदारों को 2200 रुपए प्रति मजदूर और स्थानीय को 500 रुपए में ठेका, ठेकेदारों की कार रोकने पर हंगामा शुरू

बच्चों ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम से किया मोहित

रंगारंग कार्यक्रम के मध्य में अतिथियों द्वारा चित्रकला एवं भाषण प्रतियोगिता के विजेता प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया गया। इस अवसर पर भाषण प्रतियोगिता के विजेता प्रतिभागी बच्चों द्वारा अतिथियों के समक्ष वन्य प्राणियों के संरक्षण को लेकर भाषण की प्रस्तुति भी दी, जिसे अतिथियों सहित समस्त लोगों द्वारा सराहा गया। बच्चों द्वारा प्रस्तुत रंगारंग कार्यक्रम में मुख्य आकर्षण स्वागत गीत, कत्थक नृत्य, सोला डांस, ग्रुप डांस सहित अन्य प्रस्तुति रही जिसे लोगों ने बहुत पसंद किया।

ये खबर भी पढ़े… SAIL Bonus Meeting Update: सेल प्रबंधन के बोनस फॉर्मूले पर चर्चा से पहले ही खारिज, अगली बार के लिए बनेगा फॉमूला, 45 हजार पर बात फंसी

निर्णायकों संग इनकी भूमिका रही खास

चित्रकला एवं भाषण प्रतियोगिता के निर्णायकों में नीलिमा नंदनवार, मीता रॉय, कृपाशंकर शर्मा, एसके तिर्की, जवाहर बाजपेयी थे। इस अवसर पर चिड़ियाघर के कर्मचारियों को विभाग द्वारा सम्मानित किया गया। कार्यक्रम की उद्घोषक रजनी रजक थी। इस कार्यक्रम में गफ्फार खान, राजेश शर्मा, आरिफ खान ए के सिन्हा, नरसैय्या, ललित, व्ही संदीप नायडू, योगेश कुमार चन्द्राकर, खीरू प्रसाद, शंकरलाल अग्रवाल, नवलदास, हरिंदर, राजकुमार, मदनगोपाल सिंह, प्रेमचंद सहित अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी प्रमुख रूप से उपस्थित थे।

ये खबर भी पढ़े… BSP QR Code: भिलाई स्टील प्लांट में ट्रायल सफल, सभी गेट पर एक साथ अनिवार्य, गाड़ियों पर लगाएं क्यूआर कोड, वरना नहीं जा सकेंगे ड्यूटी

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here