वाह! चीन की चाल को सेल-बीएसपी ने किया चित, थाईलैंड, नेपाल, यूएई तक भेजा एक लाख टन से ज्यादा स्टील

अज़मत अली, भिलाई। स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड-सेल की सबसे बड़ी इकाई भिलाई स्टील प्लांट ने देश का मान बढ़ाया है। विदेशी धरती पर एक बार फिर अपने प्रोडक्ट की धाक जमाई है। दुनिया के सबसे बड़े इस्पात उत्पादक देश चीन की चाल को भी मात दे दी है। भारत में स्टील डंप करने के मामले में चीन हमेशा चालाकी दिखाता रहा है। अब चीन की चाल फेल हो रही है। भारतीय स्टील प्रोडक्ट चीन में बिक रहे हैं। भिलाई स्टील प्लांट ने चीन को 34,762 टन सीसीएस स्लैब बेचा है। इतना ही नहीं, बीएसपी ने नेपाल, थाईलैंड और यूएई में भी अपनी स्टील की चमक को बरकरार रखा है।

ये खबर भी पढ़ें: सेल कर्मचारी को एक घंटे तक बदमाशों ने किया टॉर्चर, हॉकी से की पिटाई, ब्लैकमेल करने जबरन बोलवा रहे थे छेड़खानी की बात

भिलाई इस्पात संयंत्र ने वित्तीय वर्ष 2021-22 में विभिन्न देशों को 1.06 लाख टन विभिन्न ग्रेड के स्टील का निर्यात किया। इस निर्यात में संयुक्त अरब अमीरात को 30,600 टन प्लेट और नेपाल को 18,573 टन वायर रॉड, यूरोपीय संघ को 6335 टन सीसीएस स्लैब, थाईलैंड को 16,209 टन सीसीएस स्लैब और चीन को 34,762 टन सीसीएस स्लैब शामिल हैं।

ये खबर भी पढ़ें:बीएसपी ने जीता सेल स्तरीय चेयरमैन ट्रॉफी फॉर यंग मैनेजर्स का खिताब

संयुक्त अरब अमीरात को भेजे गए प्लेटों में 12,236 टन हाई टेंसाइल प्लेट, 18,063 टन माइल्ड स्टील ग्रेड प्लेट और 301 टन बीएस एस-355 जेआरएआर 16 ग्रेड प्लेट शामिल हैं। इसी क्रम में सीसी ईएन 10025-2एस275 जेआर ग्रेड के सीसीएस स्लैब यूरोपीय संघ को निर्यात किए गए। सीसी क्यू-235बी ग्रेड के स्लैब, थाईलैंड को निर्यात किए गए।

ये खबर भी पढ़ें: मोदी सरकार ने बीएमएस को दिया बड़ा तोहफा, स्वीटजरलैंड में भारतीय श्रमिकों के प्रतिनिधित्व का मौका

चीन को किए गए निर्यात में सीसीजेआईएस जी-3101 और सीसी क्यू-235बी ग्रेड सीसीएस स्लैब शामिल हैं। नेपाल को किए गए निर्यात में एसएई-1008 ग्रेड वायर रॉड शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!