Suchnaji

BSP ने रेलवे स्कीम का उठाया फायदा, मेघाहातुबुरू-किरीबुरू से लेकर RSP तक मुनाफा, बेपटरी मालगाड़ी को उठाएगा 140 टन का क्रेन

BSP ने रेलवे स्कीम का उठाया फायदा, मेघाहातुबुरू-किरीबुरू से लेकर RSP तक मुनाफा, बेपटरी मालगाड़ी को उठाएगा 140 टन का क्रेन
  • भारतीय रेलवे की एक योजना है, जिसमें समझौते के अनुसार माल ढुलाई में छूट, बीएसपी साइडिंग में कोई विलंब शुल्क नहीं और रेलवे द्वारा वैगनों के रखरखाव जैसे लाभ शामिल हैं।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। सेल-भिलाई इस्पात संयंत्र द्वारा खरीदे गए जीपीडब्लूआईएस रेक और 140 टन क्षमता रेल क्रेन का विधिवत उद्घाटन T&D विभाग में सेल-भिलाई इस्पात संयंत्र के निदेशक प्रभारी अनिर्बन दासगुप्ता ने किया। कार्यपालक निदेशक (संकार्य) अंजनी कुमार, कार्यपालक निदेशक (वित्त एवं लेखा) डॉक्टर एके पन्डा, विभिन्न विभागों के मुख्य महाप्रबंधकों और महाप्रबंधक उपस्थिति थे।

AD DESCRIPTION R.O. No. 12697/ 111

ये खबर भी पढ़ें:  EPS 95 का EPFO पोर्टल पर ऑनलाइन फॉर्म नहीं भर पा रहे सेल कर्मचारी

AD DESCRIPTION R.O. No.12697/ 111

सेल-भिलाई इस्पात संयंत्र ने बीओबीएसएनएम-1 वैगनों के चार जीपीडब्ल्यूआईएस रेक के लिए ऑर्डर दिया है। इसमें पहला रेक प्राप्त हो गया है और कमीशन कर दिया गया है। अन्य तीन रेक की भी आने वाले महीनों में आपूर्ति हो जाने की उम्मीद है। जीपीडब्ल्यूआईएस (सामान्य प्रयोजन वैगन निवेश योजना) भारतीय रेलवे की एक योजना है, जिसमें समझौते के अनुसार माल ढुलाई में छूट, बीएसपी साइडिंग में कोई विलंब शुल्क नहीं और रेलवे द्वारा वैगनों के रखरखाव जैसे लाभ शामिल हैं।

इन रेकों का उपयोग बीएसपी द्वारा सेल आरएमडी खानों मेघाहाताबुरु, किरीबुरू आदि में से बीएसपी तक लौह अयस्क और वापसी यात्रा पर बेल्हा से राउरकेला इस्पात संयंत्र तक डोलोमाइट अयस्क के परिवहन के लिए किया जाएगा।

ये खबर भी पढ़ें: कोहका सरकारी कार्यालय में मिला 6 लाख, पटवारी निलंबित

बीएसपी ने भारतीय रेलवे की जमालपुर वर्कशॉप से 140 टन क्षमता की रेल क्रेन को भी खरीदा है। इस क्रेन का उपयोग लोडेड वैगनों के डिरेलमेंट की स्तिथि में या भारी उपकरणों को उठाने के कार्य लिए किया जाएगा। क्रेन की मुख्य विशेषताओं में हाइड्रॉलिक रूप से नियंत्रित कार्य प्रणाली है (ब्रेक सिस्टम के अलावा)।

इस क्रेन में सुरक्षित लोड संकेतक और लोडेड वैगन हैंडलिंग का प्रावधान है। जिब रेस्ट, मेन हॉइस्ट और ऑक्ज़ीलरी हॉइस्ट हुक असेंबली रखने, काउंटर वेट स्लैब रखने और लिफ्टिंग टैकल रखने के लिए एक मैच ट्रक भी प्रदान किया गया है।

ये खबर भी पढ़ें: SAIL BSP के वायर रॉड मिल की उत्पादन क्षमता होगी 5 लाख टन, ED वर्क्स ने किया पूजा-पाठ, प्रोजेक्ट शुरू

निदेशक प्रभारी दासगुप्ता ने इस अवसर पर कहा कि वर्तमान परिदृश्य में इस रेक का बेहद महत्व है, इसकी उपलब्धता से संयंत्र को कच्चा माल समय पर प्राप्त हो सकेगा। निदेशक प्रभारी दासगुप्ता ने 140 टन रेल क्रेन जैसे आपातकालीन उपकरण रखने के महत्व पर भी जोर दिया जिससे संयंत्र को लाभ होगा और साथ ही दूसरों की आवश्यकता को भी पूरा किया जा सकेगा।

यह उद्घाटन कार्यक्रम का आयोजन टीएंडडी विभाग के लोको रिपेयर शॉप में सीजीएम प्रभारी (सर्विसेज) और जीएम प्रभारी (यातायात) और टी एंड डी विभाग के अन्य अधिकारियों के मार्गदर्शन में किया गया था।