सेक्टर-7 के बाद एक और ठेकेदार प्रशासन के रडार पर, नेहरू नगर चौक से मिनीमाता मंदिर तक नहीं बना लैंडस्कैपिंग, ब्लैक लिस्टेड की तैयारी

After Sector-7, another contractor on the administration's radar, landscaping not made from Nehru Nagar Chowk to Minimata Temple, preparation for blacklisted
  • नेहरू नगर चैक से मिनीमाता चौक तक सौंदर्यीकरण कार्य में विलंब, कलेक्टर ने जताई ठेका एजेंसी पर सख्त नाराजगी।


सूचनाजी न्यूज, दुर्ग। सेक्टर-7 इंडोर स्टेडियम निर्माण में भ्रष्टाचार के आरोप में ठेकेदार पर कार्रवाई के बाद एक और ठेका एजेंसी प्रशासन के रडार पर आ गई है। नेहरू नगर चौक से मिनीमाता चौक तक सौंदर्यीकरण कार्य में हो रहे विलंब के लिए कलेक्टर पुष्पेंद्र कुमार मीणा ने ठेका एजेंसी को रडार पर ले लिया है। उन्होंने नेहरू नगर चौक से मिनीमाता चौक तक सौंदर्यीकरण कार्य का निरीक्षण किया।

AD DESCRIPTION AD DESCRIPTION

उन्होंने ठेका एजेंसी के प्रतिनिधियों से कहा कि बीते 8 महीनों से लगातार सौंदर्यीकरण कार्य के लिए निर्देश दिए जा रहे हैं लेकिन इस पर कोई प्रगति नहीं हुई है। पूरा कार्य जनवरी महीने तक खत्म हो जाना था, लेकिन अब तक जमीनी स्तर पर कोई प्रगति नहीं दिख रही है।

AD DESCRIPTION

कार्य में हो रहे काफी विलंब को देखते हुए ठेका एजेंसी की ढिलाई के चलते इन्हें नोटिस के साथ ही पूरे प्रदेश में इन्हें ब्लैक लिस्ट करने सेक्रेटरी पीडब्ल्यूडी से अनुशंसा की जाएगी। इस दौरान भिलाई निगम आयुक्त रोहित व्यास एवं दुर्ग निगम आयुक्त लोकेश चंद्राकर एवं अन्य अधिकारी भी मौजूद रहे।

AD DESCRIPTION

मिनीमाता चौक में लैंडस्कैपिंग का नहीं हुआ कार्य

कलेक्टर सबसे पहले मिनीमाता चौक पहुंचे। यहां पर उन्होंने लैंडस्कैपिंग कार्य के बारे में ठेका एजेंसी से पूछा। यहां मिनी माता की प्रतिमा शिफ्ट हुए 2 महीने हो चुके हैं, लेकिन लैंडस्कैपिंग का कार्य अब तक नहीं किया गया है। इस पर उन्होंने सख्त नाराजगी जाहिर की। ठेकेदार ने कहा कि अगले हफ्ते इसके लैंडस्केप का थ्रीडी प्लान तैयार कर लिया जाएगा और इस पर काम आरम्भ कर देंगे।

AD DESCRIPTION

गंज मंडी चौक के पास काफी लंबे समय से डिवाइडर बन चुके हैं लेकिन इस पर अब तक ग्रिल नहीं लगाई गई है। उन्होंने कहा कि अब तक ग्रिल लगाकर पौधरोपण का कार्य कर दिया जाना चाहिए था। उन्होंने डिवाइडर में पौधरोपण के कार्य की प्लानिंग की विस्तार से जानकारी चाही। ठेकेदार ने इस संबंध में संतोष पूर्वक जवाब नहीं दिया।

24 एमएलडी प्लांट के पास सड़क किनारे नहीं हुआ ब्यूटीफिकेशन कार्य

इसके पश्चात कलेक्टर 24 एमएलडी प्लांट के सामने वाली सड़क पर पहुंचे, जहां सड़क के किनारे लैंडस्कैपिंग की जानी थी। कलेक्टर ने कहा कि यहां पर लैंडस्कैपिंग के लिए काफी लंबे समय से बता दिया गया है। इसके बावजूद भी अब तक प्रगति नहीं की गई। लैंडस्केपिंग के लिए और पौधे लगाने के लिए यहां पर फेंसिंग जाली आदि लगा देनी चाहिए थी लेकिन इस पर भी कार्य नहीं हुआ।

लगातार दिए गए निर्देशों के बावजूद भी इस तरह से ढिलाई काम के प्रति गंभीर लापरवाही प्रतीत होती है। कलेक्टर ने कहा कि इस तरह से धीमी गति से हो रहे कार्य से प्रोजेक्ट में काफी विलंब होने की आशंका है। शहर की सुंदरता के लिए शासन द्वारा सड़क निर्माण के साथ ही लैंडस्कैपिंग का कार्य कराने निर्णय लिया गया। है लेकिन लापरवाही के चलते इसमें काफी विलंब हो रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!