Suchnaji

NPS, EPFO का बदला नियम, पढ़िए डिटेल

NPS, EPFO का बदला नियम, पढ़िए डिटेल
  • कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) ने आपके भविष्य निधि शेष के लिए एक स्वचालित हस्तांतरण प्रणाली लागू किया है।

सूचनाजी न्यूज, दिल्ली। नए वित्तीय वर्ष की शुरुआत हो चुकी है। सरकारी सुविधाओं को लेकर कई अपडेट भी हो गए हैं। खासतौर से एनपीएस (NPS), ईपीएफओ (EPFO), करों, फास्टैग समेत कई वित्तीय मामलों के नियमों में बदलाव कर दिया गया है। इसको जानकारी आपको भी होनी चाहिए। आर्थिक रूप से आपके पॉकेट पर क्या असर पड़ने वाला है और क्या बड़ी राहत मिलेगी आदि सवालों का जवाब आपको यहां पढ़ने को मिलेगा।

AD DESCRIPTION

ये खबर भी पढ़ें : बीएमएस आज मनाएगा सर्वपंथ समादर दिवस और फूलों की होली

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट में कई घोषणाएं की थी, जिसको 1 अप्रैल से लागू कर दिया गया है। कई नियमों में बदलाव किया गया है।
पहली जानकारी यह कि ईपीएफओ का नया नियम लागू कर दिया गया है। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) ने आपके भविष्य निधि शेष के लिए एक स्वचालित हस्तांतरण प्रणाली लागू किया है। इसका मतलब यह है कि जब आप कोई नया पद शुरू करते हैं तो अब आपको मैन्युअल रूप से स्थानांतरण का अनुरोध नहीं करना पड़ेगा। ईपीएफओ स्वचालित रूप से आपके पीएफ शेष को आपके नए नियोक्ता के खाते में जमा कर देगा, जिससे आपकी सेवानिवृत्ति बचत की निर्बाध निरंतरता सुनिश्चित होगी।

ये खबर भी पढ़ें : बीएमएस आज मनाएगा सर्वपंथ समादर दिवस और फूलों की होली

यह कर्मचारी पोर्टेबिलिटी के लिए एक बड़ी जीत है और विभिन्न नियोक्ताओं के बीच आपके पीएफ के प्रबंधन की प्रक्रिया को सरल बनाता है।

अब आइए एनपीएस में हुए बदलाव को जानें

1 अप्रैल 2024 से, पीएफआरडीए राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली के लिए एक अतिरिक्त सुरक्षा उपाय लागू किया गया है। इस उन्नत प्रणाली में पासवर्ड के माध्यम से सीआरए प्रणाली तक पहुंचने के लिए दो-कारक आधार-आधारित प्रमाणीकरण शामिल है। इस अपग्रेड की घोषणा 15 मार्च, 2024 को एक सर्कुलर के माध्यम से जारी की गई थी।

ये खबर भी पढ़ें : EPS 95 पेंशन: पेंशनर्स का आखिरी पत्र PM मोदी के नाम, पढ़िए मजमून

दो-कारक आधार प्रमाणीकरण प्रणाली की शुरूआत का उद्देश्य उंगलियों के निशान को प्रमाणित करने और स्पूफिंग प्रयासों को कम करने के लिए सुरक्षा की एक अतिरिक्त परत प्रदान करना है, जिससे आधार-प्रमाणित लेनदेन की सुरक्षा में वृद्धि होगी।

ये खबर भी पढ़ें :  EPS 95 पेंशन: EPFO, पीएम मोदी की चुप्पी, अंदर ही अंदर खा रही पेंशनर्स को

आईडी और पासवर्ड-आधारित लॉगिन प्रक्रिया

पीएफआरडीए परिपत्र के अनुसार, आधार-आधारित लॉगिन प्रमाणीकरण को मौजूदा उपयोगकर्ता आईडी और पासवर्ड-आधारित लॉगिन प्रक्रिया के साथ एकीकृत किया जाएगा, जिससे एनपीएस सीआरए प्रणाली तक पहुंचने के लिए 2-फैक्टर प्रमाणीकरण की सुविधा मिलेगी।

ये खबर भी पढ़ें : EPS 95 के बूढ़े-बुजुर्ग Pensioners के राष्ट्रव्यापी आन्दोलन को EPFO-सरकार का ठेंगा!

अतिरिक्त सुरक्षा सुविधाएं लागू

पीएफआरडीए अधिसूचना में कहा गया है, “सीआरए प्रणाली तक पहुंचने के लिए सुरक्षा उपायों को मजबूत करने और ग्राहकों और हितधारकों के हितों की रक्षा के लिए, सीआरए प्रणाली में लॉगिन के लिए आधार-आधारित प्रमाणीकरण के माध्यम से अतिरिक्त सुरक्षा सुविधाएं लागू की जाएंगी।

ये खबर भी पढ़ें :  EPS 95 Pension News: पेंशनभोगी सरकार से नहीं मांग रहे भीख, कंट्रीब्यूशन का ब्याज ही बनता है 15000