Suchnaji

Bhilai Big Breaking: सैक्स रैकेट का खुलासा, 7 धराए, पहली बार कम उम्र की लड़कियां भी पकड़ाई, देखिए वीडियो

Bhilai Big Breaking: सैक्स रैकेट का खुलासा, 7 धराए, पहली बार कम उम्र की लड़कियां भी पकड़ाई, देखिए वीडियो
  • Durg Police की बड़ी कार्रवाई, रैकेट में बाहर से थे कुछ शामिल।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई।

दुर्ग पुलिस ने बुधवार को बड़ा खुलासा किया है। भिलाई के पावर हाउस स्थित प्रभात लॉज में सैक्स रैकेट का भंडाफोड़ किया गया है। इसमें सात लोगों को पकड़ा गया है। महिला और पुरुष भी पकड़ाएं है। दुर्ग और भिलाई के अधिकांश लोग शामिल थे। बाहर से आए आरोपियों को भी पुलिस ने पकड़ने में सफलता पाई है।

AD DESCRIPTION

ये खबर भी पढ़ें : Exclusive News: पेंशनर्स का दावा-RTI से खुला राज हर दिन करीब 200 पेंशनभोगी की मौत, EPFO-सरकार पर गुस्सा

बीते मंगलवार को दुर्ग पुलिस ने सूचना के आधार पर पावर हाउस के प्रभात लॉज में रेड मारा। यहां महिला और पुरुष सहित कुल सात लोगों को दबोचा गया।

इस मामले में पुलिस ने 19 वर्षीय निलेश वर्मा पिता साहेबलाल वर्मा कंस्टमर जुगाड़ कर महिलाओं से देह व्यापार करवाता था। उसने ही लॉज में कमरा बुक किया था। निलेश जांजगीर-चांपा जिले के पामगढ़ थाना अंतर्गत ग्राम पेंडरी का रहने वाला है।

ये खबर भी पढ़ें : सरकारी नौकरी: काशी हिन्दू विश्ववविद्यालय में Job, 2 लाख से ज्यादा मिलेगी Salary, BHU में ऐसे करें Apply

पुलिस ने इन्हें दबोचा

वहीं इस मामले में सुप्रभात शील (44) पिता विमल कृष्ण शील, नंबर-86, रविशंकर शुक्ला मार्केट भिलाई के निवासा को गिरफ्तार किया गया। दुर्ग के गिरधारी नगर निवासी राजेन्द्र यादव (37) पिता रघु यादव, सतनामी मोहल्ला जामुल निवासी मंजू लहरे उर्फ मंजू डहरिया (20) पिता राजेन्द्र लहरे, स्पर्श हॉस्पिटल के पास रामनगर सुपेला निवासी लक्ष्मी हलधर उर्फ मेघा (38) पिता स्व.सुखरंजन हलधर, आदर्श नगर उतई निवासी भारती उर्फ संगीता बंजारे (26) पिता विजय सिंह और राहुल वर्मा को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

ये खबर भी पढ़ें : Employees Pension Scheme 1995: मामूली पेंशन और जीर्ण बैंक बैलेंस में बीमार जीवनसाथी की देखभाल…

इस मामले में पुलिस द्वारा अपराध धारा 3, 4, 5, 7 अनैतिक व्यापार निवारण अधिनिय 1956 के तहत मामला पंजीबद्ध किया गया है। आरोपियों को न्यायिक रिमांड में भेज दिया गया है।

छावनी के नगर पुलिस अधीक्षक (CSP) हरिश पाटिल ने बताया कि इस पूरी कार्रवाई में टीम की उल्लेखनीय भूमिका रही। उच्चाधिकारियों से रेड का आदेश मिलने के बाद टीम ने रैकेट में संलिप्त सभी लोगों को दबोच लिया है।

ये खबर भी पढ़ें : 7500 EPS 95 Pension: मेडिकल, रेलवे, बस, हवाई यात्रा पर पेंशनभोगियों को चाहिए 50% छूट

इस कार्रवाई में उप निरीक्षक (SI) चेतन सिंह चंद्राकर, उप निरीक्षक वरुण देवता, प्रधान आरक्षक जसपाल सिंह, आरक्षक जीत नारायण, महिला आरक्षक पद्मिनी कौशिश व अन्य की सराहनीय भूमिका रही।

ये खबर भी पढ़ें : मजदूरों की कहीं नहीं सुनवाई, मेहनताना लेने कलेक्टर के पास पहुंचे, इन्हें चाहिए बढ़ी पेंशन

लॉज संचालक की रही भूमिका

छावनी CSP हरिश पाटिल ने बताया कि इस मामले में प्रभात लॉज के संचालक राहुल वर्मा को भी हिरासत में ले लिया गया है। राहुल और निलेश भाई है। दोनों ही भूमिका पहले ही संदिग्ध लग रही थी। पूछताछ कर आगे की कार्रवाई की जा रही है।