Suchnaji

सरकार का तुगलकी फरमान, एक-दो नहीं पांच लाख उल्लुओं को मारने का जारी हुआ फरमान

सरकार का तुगलकी फरमान, एक-दो नहीं पांच लाख उल्लुओं को मारने का जारी हुआ फरमान
  • दुनिया भर में हो रहा विरोध, लोग सरकार की कर रहे खिंचाई।

सूचनाजी न्यूज, रायपुर। उल्लुओं की एक प्रजाति को मारने का आदेश जारी हो चुका है। आदेश भी बाकायदा सरकार द्वारा दिया गया है। ‘बॉर्ड’ प्रजाति के एक-दो नहीं बल्कि पांच लाख उल्लुओं को खत्म करने का आदेश जारी किया गया है। इनकी मौजूदगी वाले घने जंगलों में प्रोफेशनल शिकारियों को बुलवाया गया है, जो बॉर्ड उल्लुओं को चुन-चुनकर मौत के घाट उतार रहे है।

ये खबर भी पढ़ें : Bhilai Steel Plant के GM इंफोर्समेंट केके यादव को धमकी देने कब्जेदार पहुंच गए घर, होगी FIR, पुलिस ने बढ़ाई सुरक्षा

AD DESCRIPTION

अमेरिका की बाइडेन सरकार ने पांच लाख बॉर्ड उल्लुओं को खत्म करने का आदेश दिया है। असल में यह आदेश स्पॉटेड उल्लुओं को बचाने के लिए ऐसा कड़ा फैसला लिया गया है। सरकार के इस फरमार की लोग तरह-तरह की चर्चाएं कर रहे है।

ये खबर भी पढ़ें : Breaking News: जीवन प्रमाण पत्र जमा नहीं, 19934 पेंशनभोगियों की ईपीएस 95 पेंशन पर रोक

स्पॉटेड उल्लुओं की संख्या कम होती जा रही है। जंगलों में तमाम उपाय, नुस्खे के बाद भी स्पॉडेट उल्लुओं की संख्या बढ़ने के बजाए घटती ही जा रही है, जो चिंताजनक बात है। जबकि बॉर्ड उल्लू अपेक्षाकृत काफी बड़े होते है और स्पॉटेड उल्लुओं का शिकार करते है।

ये खबर भी पढ़ें : Breaking News: जीवन प्रमाण पत्र जमा नहीं, 19934 पेंशनभोगियों की ईपीएस 95 पेंशन पर रोक

स्पॉटेड उल्लू बॉर्ड उल्लुओं का मुकाबला नहीं कर पाते। इसलिए सरकार द्वारा पांच लाख बॉर्ड उल्लुओं को खत्म करने का आदेश जारी हो चुका है। इसके लिए प्रोफेशनल शिकारियों को बॉर्ड उल्लुओं को चुन-चुनकर मारने जंगलों में तैनात कर दिया गया है।

ये खबर भी पढ़ें : 10 जुलाई को पता चलेगा FSNL का नया मालिक कौन, SAIL में फैला है जाल

इसका लोग विरोध कर रहे है।

लोगों का कहना है कि एक जीव को बचाने दूसरे जीव की लाखों आबादी को खत्म किया जा रहा है, यह सरासर नाइंसाफी है। इसे किसी तरह से रोका जाना चाहिए।

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो अमेरिका के वाशिंगटन, कैलिफोर्निया और ओरेगॉन में स्पॉटेड उल्लुओं की संख्या उल्लेखनीय ढंग से घटती ही जा रही है। इसे रोकने के लिए कई तरीके अपनाए गए, लेकिन सफलता हाथ नहीं लगी।

ये खबर भी पढ़ें : श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने राज्य सरकारों की रिपोर्ट NHRC को भेजी, Amazon के श्रमिकों का भी जिक्र

इसलिए स्पॉटेड उल्लुओं का हो रहा बचाव

यह बताया जा रहा है कि बॉर्ड उल्लुओं का मूल स्थान पूर्वी अमेरिका है। लेकिन इन्होंने आकार में छोटे स्पॉटेड उल्लुओं के क्षेत्र पश्चिमी तट पर इनके संसाधनों पर कब्जा जमा लिया है। साथ ही स्पॉटेड उल्लुओं का शिकार भी किया जा रहा है।

ये खबर भी पढ़ें : ESIC और Employees Provident Fund Organization पर बाहर आई अंदर की बात

सरकार का तर्क है कि विशेषज्ञ मान रहे है कि यही आलम रहा तो जल्द ही स्पॉटेड उल्लू विलुप्त हो जाएंगे। क्योंकि बॉर्ड उल्लुओं के शिकार से जो बच भी जाते है उन्हें मूलभूत संसाधान नहीं मिल पा रहा है, जिस पर बॉर्ड उल्लुओं का कब्जा हो चुका है। इसलिए यह सख्त आदेश जारी किया गया है।

ये खबर भी पढ़ें : ESIC और Employees Provident Fund Organization पर बाहर आई अंदर की बात