Suchnaji

100 से अधिक गायकों ने रवीन्द्रनाथ टैगोर संगीत की छेड़ी तान, DIC अनिर्बान दास, SP अभिषेक पल्लव संग भिलाईवासी सुनते रहे गान

100 से अधिक गायकों ने रवीन्द्रनाथ टैगोर संगीत की छेड़ी तान, DIC अनिर्बान दास, SP अभिषेक पल्लव संग भिलाईवासी सुनते रहे गान
  • गीत वितान कला केन्द्र के उपाध्यक्ष सोमेन कुन्डु ने स्वागत भाषण प्रस्तुत किया एवं कार्यक्रम के मुख्य संयोजक नरेन्द्र कुमार बंछोर (चेयरमेन, सेफी) ने कार्यक्रम को उद्देश्य पर प्रकाश डाला।

सूचनाजी न्यूज, भिलाई। गीत वितान कला केन्द्र (स्कूल ऑफ परफॉर्मिंग आर्टस) भिलाई की ओर से गुरुदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर जयंती के उपलक्ष्य में गुरूदेव और शांतीनिकेतन कार्यक्रम का आयोजन महात्मा गांधी कलामंदिर सभागृह में किया गया। संस्कृति एवं पुरातत्व विभाग छ.ग., भिलाई इस्पात संयंत्र एवं ऑफिसर्स एसोसिएशन बी.एस.पी के सहयोग से कार्यक्रम आयोजित किया गया।

AD DESCRIPTION R.O. No. 12697/ 111

इस कार्यक्रम का शुभारंभ सर्वप्रथम गुरुदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर के छायाचित्र पर माल्यार्पण एवं समक्ष दीप प्रज्जवलन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि निदेशक प्रभारी भिलाई इस्पात संयंत्र अनिर्बान दासगुप्ता थे। अति विशिष्ट अतिथि दुर्ग के पुलिस अधीक्षक, डॉ. अभिषेक पल्लव, कार्यपालक निदेशक (परियोजनाएं व कार्मिक एवं प्रशासन) एस. मुखोपाध्याय एवं विशिष्ट अतिथि रजिस्ट्रार, इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय, खैरागढ़ आईडी. तिवारी व सहायक निदेशक (कार्यक्रम) दूरदर्शन केन्द्र रायपुर प्रदीप कुमार श्रीवास्तव थे।

AD DESCRIPTION R.O. No.12697/ 111

गीत वितान कला केन्द्र के उपाध्यक्ष सोमेन कुन्डु ने स्वागत भाषण प्रस्तुत किया एवं कार्यक्रम के मुख्य संयोजक नरेन्द्र कुमार बंछोर (चेयरमेन, सेफी) ने कार्यक्रम को उद्देश्य पर प्रकाश डाला। संस्था के सदस्य द्वारा अतिथियों को पुष्पगुच्छ एवं चंदन तिलक लगाकर स्वागत किया गया।

टैगोर जयंती के इस अवसर पर गीत वितान द्वारा विद्यालयीन स्तर पर चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन भिलाई के विभिन्न विद्यालय में किया गया था। इस कार्यक्रम में छात्र-छात्राओं को प्रथम द्वितीय, तृतीय एवं सांत्वना पुरस्कार प्रदान किया गया।

इस आयोजन में कोलकाता से आमंत्रित नवरंग आर्ट एवं कलचरल सेंटर (फेस्टिवल डायरेक्टर डॉ. नदीता देव एवं शांतिनिकेतन बोलपुर से रवीन्द्र संगीत गायिका दात्री दास महापात्रा को रवीन्द्र स्मृति सम्मान से नवाजा गया। सदस्यों द्वारा मंच पर उपस्थित अतिथियों को अंगवस्त्र एवं स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया गया।

सांस्कृतिक कार्यक्रम का शुभारंभ शातिनिकेतन विश्व भारती विश्वविद्यालय का आश्रम गीत “आमादेर शांतिनिकेतन शेजे शौब होते आपोन“ रवीन्द्र संगीत से किया गया। गुरूदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर व शांतिनिकेतन पर आधारित इस कार्यक्रम में भिलाई दुर्ग के 100 से अधिक गायक-गायिकाओं ने रवीन्द्र संगीत प्रस्तुत किया।

इस आयोजन में विशेष रूप से शांतिनिकेतन बोलपुर (बंगाल) कि संगीत भवन विभाग से आमंत्रित रवीन्द्र संगीत गायिका दावी दास माया ने गीता को प्रस्तुत कर दर्शको को बांधे रखा। कार्यक्रम में यंत्र एसराज पर सम्राट साहा, तबले पर सौम्य करमकार, की-बोर्ड पर सोम्यज्योति कौर एवं गीटार पर प्रशात पांडा, डॉ. सम्युल ने संगत किया।

कार्यक्रम में संगीत निर्देशन संस्था की डायरेक्टर क्षिप्रा भौमिक, नृत्य निर्देशन नृत्यमणी मिथुन दास ने किया। कार्यक्रम में उदघोषक के रूप में सुप्रीयो सेन ने अहम् भूमिका निभाई। भिलाई इस्पात संयंत्र के वरिष्ठ अधिकारियों एवं कर्मचारियो ने परिवार सहित इस कार्यक्रम का आनंद उठाया। इस कार्यक्रम में ओए महासचिव परविन्दर सिंह सहित ओए के जोनल प्रतिनिधि भी उपस्थित थे।