Suchnaji

वेस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड: अब तक का सर्वाधिक कोयला उत्पादन, डिस्पैच और ओबीआर

वेस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड: अब तक का सर्वाधिक कोयला उत्पादन, डिस्पैच और ओबीआर
  • वेकोलि ने वित्तीय वर्ष 2023-24 में कोयला उत्पादन, डिस्पैच एवं ओबीआर में अपने पुराने सारे रिकॉर्ड ध्वस्त करते हुए, ऐतिहासिक वृद्धि दर्ज की है।

सूचनाजी न्यूज, नागपुर। वित्तीय वर्ष 2023-24 में वेस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड-वेकोलि (Western Coalfields Limited) ने कोयला उत्पादन के निर्धारित 68 मिलियन टन के लक्ष्य को पार करते हुए 69.11 मिलियन टन कोयला उत्पादन किया है। कोयला उत्पादन में वेकोलि ने गत वर्ष की तुलना में 7.5 % की वृद्धि हासिल की है।

AD DESCRIPTION

ये खबर भी पढ़ें :  Digital Media के लिए बच्चों का पागलपन तबाह कर देगी जिंदगी, ऐसे बचाइए

कोयला प्रेषण में भी वेकोलि ने नया रिकॉर्ड कायम किया है। वर्ष 2023-24 के अपने लक्ष्य को पार करते हुए वेकोलि ने 70.20 मिलियन टन कोयला प्रेषण किया है। यह गत वर्ष से 12.9 % अधिक है।

वर्ष 2023-24 में वेकोलि ने ओबीआर के पुराने सारे रेकॉर्ड तोड़ते हुए, 410.8 मिलियन क्यूबिक मीटर ओबी निष्कासन किया है। यह वर्ष 2023-24 के निर्धारित लक्ष्य से 51.8 मिलियन क्यूबिक मीटर अधिक है। गत वर्ष की तुलना में ओबी निष्कासन में वेकोलि ने 25 % की वृद्धि हासिल की है।

ये खबर भी पढ़ें : EPS 95 पेंशन: पेंशनर्स का आखिरी पत्र PM मोदी के नाम, पढ़िए मजमून

01.04.24 को वेस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (वेकोलि) के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक जेपी द्विवेदी ने कार्यक्रम ‘रू-ब-रू’ के माध्यम से टीम वेकोलि के साथ सीधा संवाद किया।

उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि वेकोलि ने वित्तीय वर्ष 2023-24 में, कम्पनी के स्थापना-काल से अब तक का सर्वाधिक कोयला-उत्पादन, डिस्पैच एवं ओवर बर्डन निष्कासन किया है। उन्होंने इन उपलब्धियों के लिए टीम वेकोलि को बधाई दी।

ये खबर भी पढ़ें : EPFO और सरकार का सबसे आसान टार्गेट पेंशनर्स, EPS 95 पेंशन पर वरदान-श्राप तक की आई बात

पॉवर प्लांट को 60.05 मिलियन टन कोयला डिस्पैच

उन्होंने आगे कहा की वित्तीय वर्ष 2023-24 में वेकोलि ने पॉवर प्लांट को 60.05 मिलियन टन कोयला डिस्पैच किया है। यह अब तक का सर्वाधिक एवं गत वर्ष की तुलना में 7.1 % अधिक है। इसी प्रकार रेल मोड से किया जाने वाला कोयला प्रेषण भी अब तक का सर्वाधिक 39.16 मिलियन टन है। यह गत वर्ष से 16.4 % अधिक है।

ये खबर भी पढ़ें : SAIL Biometric: बोकारो स्टील प्लांट के ब्लास्ट फर्नेस में बायोमेट्रिक पर बवाल

सकारात्मक पहल का प्रतिफल

उन्होंने कहा की वेकोलि में यह ऐतिहासिक वृद्धि अनेक सकारात्मक पहल का प्रतिफल है। उन्होंने खनन कार्य में सुरक्षा के महत्व को उजागर करते हुए कहा कि कोयला खनन प्रक्रिया को अधिक कारगर एवं सुरक्षित बनाने हेतु वेकोलि द्वारा कंटीन्यूअस माइनर एवं सरफेस माइनर जैसी नई तकनीक को वृहद् तौर पर अपनाया जा रहा है।

ये खबर भी पढ़ें : भिलाई पॉवर हाउस अंबेडकर चौक को लेकर बड़ी खबर, पढ़िए डिटेल

फर्स्ट माइल कनेक्टिविटी प्रोजेक्ट की स्वीकृति

वेकोलि में 4 अतिरिक्त सरफेस माइनर तथा योजनाबद्ध अंतराल में 21 नए कांटीन्यूयस माइनर लगाने की योजना है। उन्होंने कहा कि कोयला प्रेषण की प्रक्रिया में गति लाने की दृष्टि से उमरेड क्षेत्र के एमकेडी-III एवं वणी क्षेत्र की मुंगोली खदान में फर्स्ट माइल कनेक्टिविटी प्रोजेक्ट का कार्य तेजी से किया जा रहा है तथा बल्लारपुर क्षेत्र की सास्ती खदान के लिए भी फर्स्ट माइल कनेक्टिविटी प्रोजेक्ट की स्वीकृति दी गई है।

ये खबर भी पढ़ें : Lok Sabha Election 2024: एग्जिट पोल पर 19 अप्रैल से 1 जून तक बैन

इस वर्ष कम्पनी के उत्पादन में वणी क्षेत्र का सबसे ज्यादा 16.41 मिलियन टन कोयले का योगदान रहा। इसी प्रकार उमरेड क्षेत्र का 13.55 मिलियन टन और बल्लारपुर क्षेत्र का 10.47 मिलियन टन कोयला-उत्पादन का उल्लेखनीय योगदान रहा।

वित्तीय वर्ष 2023-24 के ऐतिहासिक वृद्धि से उत्साहित टीम वेकोलि ने नए वित्तीय वर्ष का लक्ष्य भी निर्धारित कर लिए है। वित्तीय वर्ष 2024-25 के लिए कोयला उत्पादन का लक्ष्य 69 मिलियन टन तय किया गया है।

ये खबर भी पढ़ें : Lok Sabha Elections 2024: राजनांदगांव, महासमुंद और कांकेर में वोटिंग का समय तय